‘हप्पू सिंह’ के पिता नहीं चाहते थे बेटा बने एक्टर, उनके संघर्ष की कहानी से आप भी प्रेरित होंगे

author image
Updated on 5 Aug, 2017 at 1:28 pm

Advertisement

“तुम तो भोत बड़ी चिरांद हो”, “अरे दादा, लाओ कछु न्यौछावर कर देयो”, ये डायलॉग्स सुनते ही आपके दिमाग में कौन आया? जी बिल्कुल सही पकडे हैं, ये हैं ‘भाभी जी घर पर हैं’ के हप्पू सिंह जी। हप्पू सिंह का किरदार निभा रहे योगेश त्रिपाठी को आज कौन नहीं जानता?

HappuSingh

‘भाभी जी घर पर हैं’ में उनके जबरदस्त किरदार ने उन्हें घर-घर में लोकप्रीय बना दिया है। आज उनकी तनख्वाह लाखों में है, लेकिन एक वक्त ऐसा भी था, जब टीवी इंडस्ट्री में काम पाने के लिए उन्हें कई साल संघर्ष करना पड़ा।

वह 2005 में मुंबई आए, जहां उन्होंने करीबन दो साल तक स्ट्रगल किया। कई प्रोडक्शन ऑफिस के चक्कर लगाए और ऑडिशन दिए। ये सफर आसान नहीं था, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी।


Advertisement

happu

योगेश त्रिपाठी झांसी के राठ कस्बे से हैं। उनके परिवार में सब टीचिंग प्रोफेशन में है। घर पर हमेशा पढ़ाई-लिखाई का माहौल रहा और एक्टिंग के बारे में तो परिवार में किसी ने दूर-दूर तक नहीं सोचा था। उनके घर में पिता और भाई-बहन सभी फिजिक्स के टीचर हैं। उनके पिताजी पहले उनके एक्टिंग में जाने से खुश नहीं थे। वह चाहते थे कि वह भी घर के बाकी सदस्यों की तरह टीचिंग में करियर बनाए।

लेकिन योगेश का इरादा कुछ अलग करने का था। वह बीएससी मैथमैटिक्स से ग्रेजुएट होकर लखनऊ आ गए और यहां थिएटर करना शुरू कर दिया। फिर क्या, यहीं से उन्होंने तय कर लिया कि एक्टिंग में ही आगे जाना है और फिर वह मायानगरी मुंबई आ गए।

yogesh



दो साल स्ट्रगल करने के बाद उन्हें ‘क्लोरोमिंट’ का विज्ञापन मिला और फिर उनकी झोली में एक के बाद एक करीबन 40 से 50 विज्ञापन आ गए।

yogesh

लेकिन उनके लिए भगवान ने कुछ बड़ा सोचा था, फिर उन्हें सब टीवी के शो ‘FIR’ से टीवी इंडस्ट्री में बड़ा अवसर मिला। इसमें वह कई किरदारों में नजर आए। उनकी अदाकारी को दर्शकों ने पसंद किया।

yogesh tripathi

 

इसके बाद जब ‘FIR’ खत्म हुआ तो उसी प्रोडक्शन के अंतर्गत बन रहे ‘भाभी जी घर पर हैं’ के लिए गप्पू सिंह के किरदार के लिए उन्हें चुना गया। आज गप्पू सिंह के किरदार को एक नई पहचान देकर, योगेश त्रिपाठी अपने अभिनय से लाखों लोगों को अपना प्रशंसक बना लिया है। हप्पू सिंह के किरदार के लिए योगेश अपनी ही भाषा बोलते हैं। उनकी कॉमिक टाइमिंग कमाल की है। लोग उनके किरदार की नकल भी करते हैं।

gappu

आज उनका परिवार उनकी सफलता से खुश है और उनके कस्बे के लोग भी शान से बोलते है कि वह एक्टिंग करते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement