दुनिया का कोई भी गेंदबाज नहीं कर सका इस भारतीय क्रिकेटर को ‘शून्य’ पर आउट

author image
Updated on 9 May, 2017 at 6:12 pm

Advertisement

यहां हम बात कर रहे हैं 80 के दशक के उस खिलाड़ी की जो अपने करियर में एक बार भी शुन्य पर आउट नहीं हुआ।

क्रिकेट में आकंडे बेहद मायने रखते हैं। अगर ये कहा जाए क्रिकेट आंकड़ों का ही खेल है तो यह गलत नहीं होगा। किस बल्लेबाज ने कितने शतक-अर्धशतक बनाए, किस गेंदबाज ने कितने विकेट लिए, कौन कितनी बार शुन्य पर आउट हुआ, ये सब गणनाएं क्रिकेट की किताब में एक रिकॉर्ड की तरह दर्ज हो जाती हैं।

शुन्य पर आउट होना किसी बल्लेबाज को गवारा नहीं होता है, लेकिन कभी-कभार बल्लेबाज सामने वाले गेंदबाज का शिकार हो ही जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में एक खिलाड़ी ऐसा भी रहा जो शुन्य पर कभी आउट नहीं हुआ।

यहां हम बात कर रहे हैं मध्यक्रम के बल्लेबाज यशपाल शर्मा की। 1983 में वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम के सदस्य रहे यशपाल को वनडे में सात साल तक कोई भी गेंदबाज शून्य पर आउट नहीं कर सका।


Advertisement

11 अगस्त 1954 को लुधियाना में जन्में इस खिलाड़ी ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच 1978 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था।

यशपाल शर्मा ने भारत के लिए 42 एकदिवसीय मैच खेले। अपने करियर में उन्होंने चार अर्धशतक जड़े। वनडे में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 89 रन रहा है। उनके टेस्ट करियर की बात करें तो उन्होंने 37 मैचों की 59 पारियों में दो शतक और 9 अर्धशतक के साथ 1606 रन बनाए हैं। टेस्ट में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 140 है।

यशपाल शर्मा भारतीय क्रिकेट के इतिहास का एक ऐसा नाम हैं जिन्होंने 1983 वर्ल्ड कप में एक संकट मोचन के किरदार को बड़े ही असाधारण सलिके से निभाया था और भारतीय टीम को कई मौकों पर जीत दिलाने में अपनी अहम भूमिका निभाई थी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement