Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

किसी जमाने में प्रेग्नेंसी रोकने के लिए महिलाएं करतीं थीं ये उपाय, जानकर हो जाएंगे हैरान

Published on 28 May, 2018 at 3:38 pm By

मौजूदा समय में  गर्भपात कराना काफी आसान हो चुका है। आधुनिक दौर में अगर कोई महिला अनचाहे गर्भ को रोकना चाहती है तो ऐसा करने के लिए उनके पास कई सुरक्षित उपाय मौजूद हैं। महिलाओं के लिए गर्भधारण को रोकना अब कोई चिंता का विषय नहीं है, लेकिन पहले ऐसा नहीं था। किसी जमाने में महिलाएं प्राकृतिक और सरल घरेलू उपचार के अलावा गर्भपात के लिए कुछ ऐसे उपाय किया करतीं थीं,  जिसे जान आप दांतों तले उंगलियां दबा लेंगे।


Advertisement

 

                                              मगरमच्छ का मल

 

पहले जमाने में गर्भधारण रोकने के लिए मगरमच्छ के मल का इस्तेमाल किया जाता था। मगरमच्छ के मल को शहद और सोडियम बाइकारबोनेट के साथ मिलाकर उसका घोल तैयार किया जाता था, इसके बाद इस लेप को महिला की योनि पर लगा जाता था। कहा जाता है इससे शुक्राणु महिला के अंदर जाने से पूर्व ही नष्ट हो जाते थे, जिसके चलते महिलाओं का गर्भपात हो जाता था।

 

                                                    लोहे का पानी

 

ऐसा माना जा ता है कि अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए ग्रीस में महिलाओं को ऐसा पानी पिलाया जाता था, जिसमें लोहार अपने औजारों को ठंडा किया करते थे। लोहे के पानी का ये घोल सभी शुक्राणुओं को नष्ट कर देता था। किसी समय उपयोग में लाए जाने वाले ये खतरनाक घोल गर्भाशय के साथ साथ शरीर को भी कई प्रकार के नुकसान पहुंचाते थे।


Advertisement

 

 

                                                                  कोक

 



50 से 60 के दशक के बीच हार्वड मेडिकल के बर्थ कंट्रोल लैब में गार्भपात हेतु कई प्रयोग किए गए। इस शोध के दौरान वैज्ञानिकों ने पाया कि  कोक ने कुछ ही मिनटों में सभी शुक्राणुओं को मार दिया। इस  शोध में पाया गया कि कोक में मौजूद कारबोनिक एसिड ने शुक्राणुओं को नष्ट कर दिया था।

 

 

                                                        नींबू 

 

अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए महिलाएं नींबू का भी सेवन कर सकती हैं। नींबू में मौजूद सायटरिक एसिड में स्पर्म को खत्म करने की शक्ति होती है, जिसके चलते ये गर्भवती महिलाओं के लिए ये खतरनाक होता है।

 

 

                                                    अफीम के पौधे

 

जिस तरह आज के जमाने में महिलाएं गर्भ को रोकने के लिए  इमरजेंसी कॉन्ट्रसेप्टिव पिल  का इस्तेमाल करतीं हैं। इसी तरह किसी जमाने में इंडोनेशिया में महिलाएं संभोग के दौरान प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए अफीम के पौधों का प्रयोग किया करतीं थीं, इससे उनका गर्भपात हो जाता था।

 


Advertisement

 

Advertisement

नई कहानियां

जानिए क्या है वास्तु शास्त्र, इसका महत्व और इतिहास

जानिए क्या है वास्तु शास्त्र, इसका महत्व और इतिहास


जामिनी रॉय: एक ऐसा महान चित्रकार, जिन्होंने चित्रकारी को दिया नया आयाम

जामिनी रॉय: एक ऐसा महान चित्रकार, जिन्होंने चित्रकारी को दिया नया आयाम


पाक पीएम इमरान खान ने विश किया हैप्पी होली, ट्विटर पर लोगों ने लगा दी लताड़

पाक पीएम इमरान खान ने विश किया हैप्पी होली, ट्विटर पर लोगों ने लगा दी लताड़


होली पर रंगों से ऐसे करें अपनी त्वचा की हिफ़ाज़त, अपनाएं ये घरेलू तरीके

होली पर रंगों से ऐसे करें अपनी त्वचा की हिफ़ाज़त, अपनाएं ये घरेलू तरीके


यहां होली में जमकर होती है पुरुषों की धुनाई, जानिए क्यों?

यहां होली में जमकर होती है पुरुषों की धुनाई, जानिए क्यों?


ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें Health

नेट पर पॉप्युलर