आदिवासी महिलाएं अपनी अोढ़नी पर कढ़वा रही हैं मोबाइल नंबर, वजह जानकर आप भी करेंगे तारीफ

author image
Updated on 2 Dec, 2016 at 8:37 pm

Advertisement

क्या आपको फिल्म गजनी याद है? इस फिल्म का मुख्य किरदार कमजोर याददाश्त की वजह से लोगों के नाम और नंबर अपने शरीर पर लिखकर रखता है। नाम और नंबर लिख कर काम चलाने का यह तरीका अब आम लोग भी अपनाने लगे हैं।


Advertisement

जी हां, आदिवासी महिलाओं ने अपने परिजनों के मोबाइल नंबर याद रखने, अपनी पहचान को बेहतर करने का एक अभिनव तरीका खोज निकाला है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान के उदयपुर इलाके में स्थित कोटड़ा में आदिवासी महिलाएं अब अपनी ओढ़नी पर अपना नाम और करीबी रिश्तेदार का मोबाइल नंबर कढ़वा रही हैं।

य़ह एक सुविधा तो है ही, साथ ही किसी करीबी के प्रति अपनापन दिखाने का एक ठेठ देसी अंदाज भी। इस क्षेत्र में अधिकतर आदिवासी महिलाएं पढ़ना-लिखना नहीं जानतीं। यही वजह है कि इन महिलाओं ने अपनी ओढ़नी पर ही बेटे, पति या अन्य परिजनों का नंबर कसीदे से कढ़वा रखा है। ये जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल कर लेती हैं। पढ़ी-लिखी महिलाएं फोन नंबर मोबाइल में फीड कर लेती हैं और जरूरत पड़ने पर इसका उपयोग भी। लेकिन जो महिलाएं पढ़ना-लिखना नहीं जानतीं, वे अब इस तरीके को अपना रही हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement