55 साल के पति को लगी पॉर्न की लत, न्याय के लिए महिला पहुंची सुप्रीम कोर्ट

author image
10:10 am 16 Feb, 2017

अपने 55 साल के पति के पॉर्न देखने की लत से परेशान होकर एक महिला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। महिला ने याचिका में कहा है कि उसके पति को पॉर्न देखने की लत है। यही वजह है कि दोनों की शादुशुदा जिन्दगी पर असर पड़ रहा है। महिला ने मांग की है कि देश में पॉर्न साइट्स पर प्रतिबंध लगाया जाए।

टाइम्स ऑफ इन्डिया की इस रिपोर्ट के मुताबिक, अपने दावों को पुष्ट करने के लिए महिला ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष कई दलीलें भी रखी हैं। इनमें से एक दलील में कहा गया है कि जब इस पकी हुई उम्र में उनके पढ़े-लिखे पति पॉर्न के आगे मजबूर हो सकते हैं तो आज के युवाओं के दिमाग पर इसका कितना असर पड़ेगा, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

महिला ने अपनी याचिका में कहा हैः

“मेरे पति को पॉर्न की लत काफी देर से लगी। करीब 2015 में। वह इन दिनों अपना कीमती समय पॉर्न देखने में व्यतीत करते हैं जो इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध है। पॉर्न की वजह से मेरे पति का दिमाग दूषित हो गया है और हमारी शादीशुदा जिंदगी खराब हो गई है।”

सोशल वर्कर व दो बच्चों की मां का दावा है कि उनकी शादीशुदा जिन्दगी बढ़ियां चल रही थी। 30 साल के सहचर्य के दौरान उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई। लेकिन वर्ष 2015 से इन्टरनेट पॉर्न उनकी शादीशुदा जिन्दगी को लगातार तबाह कर रहा है।

याचिका में अन्य दलीलों में कहा गया है कि इन्टरनेट पॉर्न की वजह से पारिवारिक मूल्यों का पतन हो रहा है। यही वजह है कि उम्रदराज लोग भी दूषित प्रवृत्ति और मानसिक दिवालिएपन का शिकार हो रहे हैं।

आपके विचार