आपके स्मार्टफोन संदेश पर अमेरिका की नजर, सुरक्षित नहीं है आईफोन भी

author image
Updated on 8 Mar, 2017 at 6:54 pm

Advertisement

स्मार्टफोन और आईफोन पर आने वाले मैसेज सिर्फ आप ही नहीं पढ़ रहे हैं, बल्कि इन संदेशों पर किसी और की भी नजर है। जी हां, अमेरिकी खुफिया एजेन्सी सीआईए की नजर आपके द्वारा इस्तेमाल की जा रही इन डिवाइस पर है। विकीलीक्स का दावा है कि इन डिवाइस को पल भर में हैक कर सभी जानकारियां जुटाई जा सकती है।

खासकर आईफोन या गूगल के एन्ड्रॉयड आधारित स्मार्टफोन पर यह खतरा है।

विकीलीक्स की रिपोर्ट में विस्तार से इसके बारे में जानकारी दी गई है। इस रिपोर्ट में सीआईए की हैकिंग तकनीक के बारे में बताया गया है। साथ ही यह भी कहा गया है कि हैकिंग की इन्ही तकनीक का इस्तेमाल सीआईए पिछले 10 सालों से करती रही है।


Advertisement

विकीलीक्स रिपोर्ट के मुताबिक, आईफोन, एंड्रॉयड फोन और दूसरी डिवाइसेज के अलावा दूसरे गैजेट्स में मौजूद टेक्‍स्‍ट्स और व्‍यॉइस मैसेज को सीआईए के हैकर्स आसानी से पढ़ सकते हैं और वह भी सॉफ्टवेयर के साथ इनक्रिप्‍ट हुए है।

विकीलीक्स का दावा है कि सीआईए के अमेरिकी व विदेशी कंपनियों के साथ साझेदारी है।

यही वजह है कि सीआईए को लोकप्रिय मैसेजिंग एप्‍स जैसे व्‍हाट्सएप, टेलीग्राम और सिग्‍नल पर मौजूद मैसेज मिल जाते रहे हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement