अपने ATM कार्ड को जरा चेक कर लीजिए, ये निशान बिना पिन के कर देता है ट्रांजेक्शन

Updated on 25 Nov, 2018 at 2:29 pm

Advertisement

आज हम ऐसे दौर में जी रहे हैं जहां रोज़ नई तकनीकों का ईजाद हो रहा है। इसे हमारी निर्भरता भी बढ़ती जा रही है। तकनीक जीवन को आसान बना देता है और इसलिए इसका अपना विशेष महत्व है। लेकिन बात जब रुपये-पैसों पर आती है तो थोड़ी सावधानी भी ज़रूरी है। यहां आपके एटीएम कार्ड के उस फ़ीचर के बारे में बात कर रहे हैं जो आपको धोखा दे सकता है।

 

अगर आपके एटीएम कार्ड पर वाइफाइ का निशान बना हुआ है तो ये जानकारी आपके लिए बेहद ज़रूरी है।

 


Advertisement

वाइफाइ के निशान से ये पता चलता है आपका कार्ड कांटेक्टलेस फ़ीचर वाला है। ऐसे कार्ड को महज़ टच करके पेमेंट किया जा सकता है। ऐसे कार्ड को स्वाइप करने की ज़रुरत नहीं होती है। इस कार्ड में शार्ट रेंज डाटा ट्रान्सफर की सुविधा होती है जो नियर फील्ड कम्युनिकेशन चिप के कारण मिलती है। ये पूरी तरह वायरलेस तकनीक पर काम करता है।

 

 

 

साइबर एक्सपर्ट रक्षित टंडन कहते हैं, “इस तरह के कार्ड में ये सुविधा इनबिल्ट होती है जिसे बंद नहीं किया जा सकता। इस सुविधा के माध्यम से बेहद छोटी रकम ट्रान्सफर की जा सकती है और इसलिए चिंता की बात नहीं है।”

कांटेक्टलेस कार्ड से 2000 रुपये का ट्रांजेक्शन तक किया जा सकता है। वह भी तब जब पीओएस मशीन 4 सेमी के दायरे में रहे। इस सुविधा से पेमेंट करने में बिलकुल भी समय नहीं लगता। ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, यूके, फ्रांस आदि देशों में इसका चलन आम है। अब भारत में भी ऐसे कार्ड जारी किए जा रहे हैं।

 

 

साल 2016 में एक न्यूज़ वायरल हुई थी, जिसके अनुसार एक चोर पीओएस मशीन लेकर घूम रहा था और वह कॉन्टेक्टलेस कार्ड पाते ही उसे टच कर पैसा उड़ा लेता था। ऐसे कार्ड से कोई भी आपका नुकसान कर सकता है। इसलिए सावधानी रखें, सुरक्षित रहें।


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement