Advertisement

आखिर क्यों हॉलीवुड फिल्मों को बॉलीवुड से बेहतर माना जाता है, जानिए इसकी 5 वजहें

5:17 pm 5 Dec, 2017

Advertisement

दुनिया में फिल्म के शौकीन लोग ज़्यादातर बॉलीवुड की बजाय हॉलीवुड फिल्में देखना पसंद करते हैं।आपके भी किसी फिल्मी कीड़े दोस्त ने आपसे कहा ही होगा कि ‘बॉलीवुड फिल्में बकवास होती है, देखना है तो हॉलीवुड मूवी देखो’।

 

अब सवाल है कि आखिर क्यों हॉलीवुड फिल्मों को बॉलीवुड से बहेतर माना जाता है। चलिए हम बताते हैं इसकी कुछ खास वजहें:

 

बॉलीवुड- लार्जर देन लाइफ कैरेक्टर

 

बॉलीवुड की फिल्मों में अक्सर आपने देखा ही होगा कि कैसे साधारण सा दिखने वाला शख्स एक साथ दर्जनों भर गुंडों को ढ़ेर कर देता है। कभी कभी तो अति ही हो जाती है। ऐसा लगता है कि मानो हीरो दूसरे ग्रह से आया कोई प्राणी है, जिसके पास ढेर सारी शक्तियां हैं।

 

हॉलीवुड- ईमानदारी से दिखाते हैं सुपर हीरो का किरदार

 

हॉलीवुड की सबसे अच्छी बात यही है कि वो किसी सुपरहीरो के कैरेक्टर को भी साधारण ढंग से दिखाता है। सुपरहीरो को होने वाली आम समस्याओं और मुश्किलों को भी ईमानदारी से दिखाता है, न कि बॉलीवुड की तरह उसे हवा में उछालकर सिर्फ गुंडों को मारते हुए दिखाया जाता है। हॉलीवुड के किरदार आपको असल ज़िंदगी से जुड़े दिखेंगे, इन्हें बढ़ा-चढ़ाकर पेश नहीं किया जाता।

 

बॉलीवुड- भावनाओं की बाढ़

 

अधिकतर बॉलीवुड फिल्मों में आपको इमोशन्स कुछ ज़्यादा ही दिखते हैं। कई बार तो लगने लगता है कि स्टार्स ओवरएक्टिंग कर रहे हैं। भावनाओं की ये बाढ़ कई बार नकली लगने लगती है।

 

हॉलीवुड- भावनाओं की बजाय अच्छे किरदार के गुणों पर फोकस करता है

 

हॉलीवुड के ऐसे किरदार जिनकी पूरी दुनिया में प्रशंसा हुई है, वो अपना काम करने में ज़्यादा विश्वास करते हैं, बजाय दिखाने या शो ऑफ करने के।

बॉलीवुड- लव स्टोरीज का लगा हुआ है कीड़ा

 

बॉलीवुड की फेवरटे थीम है लव स्टोरी। लव स्टोरी से बॉलीवुड को बहुत मोहब्बत है, आम दर्शकों के बीच भी लव स्टोरीज़ पॉप्युलर है। इतना ही नहीं लोगों के सिर पर लव स्टोरी का बुखार इस कदर चढ़ा रहता है कि फिल्म में की गई ग़लतियां भी उन्हें नज़र नहीं आती। मसलन, फिल्म ‘2 स्टेट्स’ में आलिया भट्ट अर्जुन कपूर के होस्टल में ही सो जाती है और किसी को कोई आपत्ति नहीं होती।
साथ ही फिल्म बहुत तेज़ गति से भागती है।

हॉलीवुड- रिलेशनशिप के अलावा भी बहुत सी चीज़ें अहम हैं


Advertisement

 

हॉलीवुड में लव स्टोरी पर उतना फोकस नहीं किया जाता, जितना की बॉलीवुड में होता है। बस ये जीवन का एक हिस्सा है इसे उसी रूप में हॉलीवुड में दिखाया जाता है।

 

बॉलीवुड- मसाला फिल्मों से प्यार

 

चंद फिल्मों को छोड़ दिया जाए तो आमतौर पर बॉलीवुड फिल्मों में आइटम नंबर से लेकर गाने तक, ढेर सारे तड़कों का इस्तेमाल किया जाता है।

 

हॉलीवुड- यहां की फिल्मों में नहीं होता मसाला

 

फिल्म हिट कराने के लिए आइटम नंबर और ढेर सारे गानों जैसे ट्रिक्स हॉलीवुड में नहीं आज़माए जाते। इसकी बजाय यहां कहानी पर ज़्यादा ध्यान दिया जाता है।

 

बॉलीवुड- हीरो के लुक पर सारा फोकस

 

बॉलीवुड फिल्मों में हीरो की बॉडी पर पूरा फोकस रहता है, कहानी कुछ भी हो हीरो अच्छा दिखना चाहिए।

 

हॉलीवुड- क्रिएटिविटी पर फोकस

 

बॉलीवुड जहां हीरो के फिजिक्स में बिज़ी रहता है, वहीं हॉलीवुड हमेशा कुछ न कुछ नया ट्राई करता रहता है जिससे लोगों में सस्पेंस और उत्सुकता दोनों बनी रहती है।

 

भले ही हॉलीवुड सिनेमा कुछ मायनों में बॉलीवुड से बेहतर है लेकिन इसका ये मतलब कतई नहीं है कि बॉलीवुड में सबकुछ बुरा ही है। बॉलीवुड ने हॉलीवुड को अमिताभ बच्चन, नसीरुद्दीन शाह, अनिल कपूर, इरफान खान, दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा जैसे कलाकार भी दिए हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement