भारत के 57% डॉक्टरों के पास मेडिकल योग्यता नहीं; विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट में खुलासा

author image
Updated on 19 Jul, 2016 at 10:13 pm

Advertisement

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा हाल ही में जारी की गई एक रिपोर्ट में जो बात सामने आई है, वह भारत के स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के हालात को लेकर वाकई चौंकाने वाली है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत को अपने स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारी सुधार की जरूरत है, क्योंकि वह कई चुनौतियों का सामना कर रहा है।

doctors

सांकेतिक तस्वीर

इसमें कहा गया है कि भारत में बस 20 लाख ही स्वास्थ्य कर्मचारी हैं, जिनमें से 39.6 प्रतिशत ही डॉक्टर हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक, इन 20 लाख डॉक्टरों में, 77.2% एलोपैथिक हैं, 22.8% आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक या यूनानी (आयुष) डॉक्टर्स हैं।

doctors

सबसे अधिक चौंकाने वाली बात यह है कि देश में एलोपैथिक डॉक्टर होने का दावा करने वाले करीब 31.4% लोग सिर्फ सेकंडरी स्कूल लेवल (12th क्लास) तक शिक्षित हैं। जबकि 57. 3 % लोगों के पास कोई मेडिकल योग्यता ही नहीं है।

doctors


Advertisement

इसके अलावा, भारत के करीब 73 जिलों में नर्सेज के पास उपयुक्त मेडिकल क्वालिफिकेशन नहीं हैं।  इनमें से अधिकतर जिले बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखंड के हैं।

रिपोर्ट इस बात को भी उजागर करती है कि स्वास्थ्य कर्मचारियों में 62% पुरुष हैं, जबकि केवल 38% महिलाएं हैं।  इसमें पुरुष डॉक्टर, महिला डॉक्टरों से कम शिक्षित हैं।

doctors

एलोपैथिक डॉक्टरों में केवल 37.7% पुरुष डॉक्टर ही 67.2% महिलाओं डॉक्टरों की तुलना में चिकित्सकीय रूप से योग्य हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement