आखिर अधिकतर प्लेन्स का रंग सफेद ही क्यों होता है ? वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

author image
Updated on 25 Apr, 2017 at 4:41 pm

Advertisement

अधिकतर हवाई जहाज सफेद रंग के होते हैं। ये भले ही रंग-बिरंगे हों, लेकिन इनका निचला हिस्सा सफेद होता है। दरअसल, इसकी खास वजह है। आइए जानते हैं कि ये वजह आखिर है क्या?

1. सफेद पेन्टिंग अन्य रंगों की तुलना में सस्ती होती है।


Advertisement

अलग-अलग रंग और डिजायन पर बेतहाशा पैसा खर्च करने से बेहतर है कि हवाई जहाज को सफेद रंग से पेन्ट कर तैयार किया जाए। आमतौर पर एक हवाई जहाज को पेन्ट करने में औसतन एक महीने का समय लगता है। साथ ही खर्च आता है 3 लाख से एक करोड रुपए तक का।

2. सफेद रंग की वजह से हवाई जहाज पर लगी चोट या डेन्ट का पता तुरत चल जाता है। सफेद रंग होने की वजह से प्लेन क्रैश होने की स्थिति में इसे खोजना आसान होता है।

3. सफेद रंग हवाई जहाज को ठंडा रखने के में कारगर साबित होता है, जबकि किसी अन्य रंग से गर्मी बढ़ती है।

4. चाहे कितनी भी धूप हो, सफेद रंग हल्का नहीं पड़ता, जबकि अन्य रंगों के साथ ऐसा नहीं है। समय बीतने के साथ अन्य रंग हल्के होने लगते हैं।

5. रंगों का असर प्लेन पर वजन के रूप में भी पड़ता है। अन्य रंगों के इस्तेमाल से हवाई जहाज का वजन बढ़ जाता है। अधिक वजन वाले हवाई जहाज में ईन्धन की खपत अधिक होती है।

6. सफेद रंग का फायदा यह है कि इससे प्लेन आसानी से बेचा जा सकता है या लीज पर दिया जा सकता है।

दरअसल, सफेद प्लेन खरीदने वाली कंपनी अपने हिसाब से कम खर्चे में नाम बदलवा सकती है। सफेद रंग के हवाई जहाज़ पर कंपनी का नाम लिखना आसान होता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement