सऊदी अरब में व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए खोजी जा रही हैं एक से अधिक बीवियां, फंस रही हैं दक्षिण एशियाई देशों की महिलाएं

Updated on 12 Jan, 2017 at 1:05 pm

Advertisement

सऊदी अरब में इन दिनों एक ऐसा व्हाट्सएप ग्रुप चलन में है, जिसके जरिए एक से अधिक बीवियों की तलाश की जा रही है। चौंकाने वाली बात यह है कि इसमें दक्षिण एशियाई देश, मसलन पाकिस्तान, बंग्लादेश. चीन, यमन की महिलाएं फंस रही हैं। इस व्हाट्सएप ग्रुप को आठ सऊदी अधिकारियों ने मिलकर बनाया है। इस ग्रुप का नाम दिया गया है – पोलीगैमी (बहुविवाह)। इसमें महिलाओं को सऊदी अरब के मर्दों से शादी के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। बताया गया है कि अब तक करीब दक्षिण एशियाई देशों की 900 से अधिक महिलाएं दूसरी, तीसरी या चौथी पत्नी होने के लिए आवेदन कर चुकी हैं।


Advertisement

 

Representative Image siasat

इस प्रस्ताव को आकर्षक बनाने के लिए यह ग्रुप निःशुल्क सदस्यता प्रदान कर रहा है। लगभग 1000 विधवा, एकल और तलाकशुदा महिलाएं पहले ही रजिस्ट्रेशन करा चुकी हैं। इन महिलाओं को दूसरी, तीसरी या चौथी पत्नी कहलाने में तनिक भी गुरेज नहीं हैं।

इस ग्रुप में 18 से 55 साल तक की उम्र की महिलाएं हैं।

Representative Image thinglink

सऊदी गजट नामक अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि सऊदी अरब की कुछ महिलाओं ने भी इस ग्रुप को ज्वाइन किया है। आश्चर्य की बात हैं इस लिस्ट में शिक्षित महिलाएं भी शामिल हैं। उन्हें बहुविवाह से तनिक भी गुरेज नहीं हैं।

जब इन महिलाओं से उनके साथी के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने अलग-अलग बातें कहीं। एक ने कहा कि करीब 13 हजार पाउंड सैलरी की मांग की, तो दूसरी ने कहा कि उसके जीवनसाथी को पूरा कुरान याद होना चाहिए।

digitaltrends

अधिकारियों का कहना है कि जब भी कभी किसी सऊदी व्यक्ति ने इन महिलाओं में रुची दिखाई, तब वे उनसे संपर्क करेंगे।

कुल मिलाकर यह व्हाट्सएप ग्रुप विवाह योग्य स्थान कम, लेकिन व्यवस्थित सेक्स रैकेट अधिक लग रहा है। विशेषकर इसके जरिए मध्यम या कम आय वर्गीय महिलाओं सऊदी अरब लाए जाने के लिए को निशाना बनाया जा रहा है। गौरतलब है कि सऊदी अरब में सैकड़ों की संख्या में दक्षिण एशियाई देशों की महिलाएं फंसी हुई हैं। एक बार इनके फंस जाने के बाद वहां से निकलने की गुंजाईश कम ही होती है।

medicaldaily

संयुक्त अरब अमीरात से प्रकाशित अखबार द नेशनल की रिपोर्ट में कहा गया है कि बहुविवाह तथा शारीरिक रूप से प्रताड़ित किए जाने की वजह से महिलाएं अवसादग्रस्त हो जाती हैं। इन्हें एक बेहतर जीवन नहीं मिल पाता।

शारजाह के अमेरिकी विश्वविद्यालय में अंग्रेजी की प्रोफेसर डॉ. राना रद्दावी ने बहुविवाह में रहीं 100 से अधिक अरब महिलाओं पर एक शोध किया। इस शोध में चौंकाने वाले परिणाम सामने आए। दरअसल, इन महिलाओं का न केवल शारीरिक शोषण किया गया, बल्कि उनको शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित भी किया गया। इस वजह से उनके जीवन पर व मानसिक स्थिति पर खराब असर पड़ा।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement