Advertisement

तीन तलाक के साथ गर्माया है ‘हलाला’ का मुद्दा, जानिए ये क्या बला है

2:23 pm 18 Aug, 2017

Advertisement

पिछले कुछ दिनों से टीवी चैनलों और अखबारों में हलाला का बहुत ज़िक्र हो रहा है। लेकिन क्या आप इस शब्द का मतलब समझते हैं? क्या आप जानते हैं कि आखिर ये हलाला है क्या जिसे लेकर मुस्लिम समाज में इतनी हाय-तौबा मची है? तीन तलाक के बाद यह मुद्दा क्यों गर्माया हुआ है, चलिए आज आपको विस्तार से बताते हैं कि आखिर ये हलाला क्या बला है।

क्या है हलाला?

हलाला एक रस्म है। इसे ‘निकाह हलाला’ के नाम से भी जाना जाता है। यह रस्म उन तलाकशुदा औरतों के लिए होती है, जो हालात के चलते दोबारा अपने पहले शौहर से निकाह करना चाहती हैं। इसके लिए उन्हें हलाला का पालन करना पड़ता है। शरिया के मुताबिक अगर किसी शख्स ने बीवी को तलाक दे दिया, तो उससे तब तक दोबारा निकाह नहीं कर सकता है, जब तक वह किसी दूसरे से निकाह करके उससे तलाक न ले ले।

ऐसे में तलाकशुदा मुस्लिम औरत शौहर से तब तक दोबारा शादी नहीं कर सकती जब तक उसने किसी अजनबी से शादी कर उसके संग एक रात न गुजारी हो। इसी कारण मौलवी मुस्लिम महिलाओं संग रात गुजारते हैं और अगली सुबह उन्हें तलाक दे देते हैं। आरोप लगाए जाते हैं कि ऐसे में मुल्ला-मौलवियों के पास कई मर्द भी पहुंचते हैं। यह पक्का करने कि वे औरत को तलाक देंगे या नहीं। ऐसे में मौलवी अगले दिन की गारंटी के बदले मोटी रकम वसूलते हैं।

कुरान में ये है हलाला का मतलब


Advertisement

हलाला में तलाकशुदा औरत मर्जी से किसी दूसरे मर्द से शादी करे और इत्तेफाक से उससे भी रिश्ता न निभ पाए या दूसरा शौहर तलाक दे दे या फिर उसकी मौत हो जाए, तब वह अपने पहले शौहर से निकाह कर सकती है। यही असल इस्लामिक हलाला है, लेकिन सहूलियत के हिसाब से लोग काजी और मौलवी के साथ मिलकर इसे अमल में लाते हैं।

मौलानाओं ने बनाया कमाई का धंधा

अब मौलानाओं ने इसे कमाई का धंधा बना लिया है और वो किसी कीमत नहीं चाहते कि हलाला के दरवाजे पर ताला लगे। हलाला के नाम पर महिलाओं की आबरू के साथ तो खेला ही जा रहा है, इससे अवैध तरीके से पैसे भी कमाए जा रहे हैं। मौलवी खुद ही एक रात शौहर बन अनजान औरतों के संग सोते हैं। वादे के मुताबिक अगली सुबह उन्हें तलाक दे देते हैं। इसके लिए बाकायदा रेट तय हैं।

बताया जाता है कि इस काम के लिए वे महिलाओं व उनके परिजनों से 50 हजार रुपए से लेकर दो लाख रुपए तक वसूलते हैं।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement