गजब! इस जोड़े ने श्मशान घाट में मनाई शादी की 25वीं सालगिरह, मेहमानों को दिया भोज

author image
Updated on 24 Feb, 2017 at 2:11 pm

Advertisement

आमतौर पर लोग अपनी शादी की सालगिरह खास और यादगार बनाने के लिए कुछ अलग करते हैं। मसलन, किसी रोमांटिक जगह पर एक दूसरे के साथ वक्त बिताना या फिर परिवार और दोस्तों के साथ कहीं पार्टी करना। लेकिन एक दंपत्ति ने अपनी 25वीं सालगिराह को खास बनाने के लिए जो कुछ किया उसे सुनकर आपको यकीन ही नहीं होगा।

50 वर्षीय सुरेश चांडी और 47 वर्षीय सुगना ने अपनी शादी की 25वीं सालगिरह का जश्न श्मशान घाट में मनाया। जी, आपने बिलकुल सही पढ़ा। श्मशान में इस दंपत्ति जोड़े ने अपनी शादी की सालगिरह का इन्तजाम किया।

श्मशान घाट में बाकायदा मंडप सजाया गया और इस जश्न में 1800 मेहमान शामिल हुए। व्यंजन में खास तौर पर गुजराती भोज करवाया गया।

शादी की सालगिराह का जश्न चल ही रहा था, तभी एक परिवार वहां अपने परिजन का अन्तिम संस्कार करने पहुंचा। ऐसे में उनकी भावनाओं का सम्मान करते हुए जश्न को तब तक के लिए रोक दिया गया, जब तक अन्तिम संस्कार को विधि पूरी नहीं हो गई। वहीं, मृतक को इज्जत देते हुए वहां पहुंचे सभी मेहमानों ने खड़े होकर अपनी सांत्वना प्रकट की।


Advertisement

पेशे से एक सामाजिक कार्यकर्ता सुरेश चांडी श्मशान घाट में ही सालगिरह को मनाने को लेकर कहते हैं कि आजकल गार्डन श्मशान जैसे लगते हैं और श्मशान गार्डन जैसे। इस श्मशान में रोजाना बच्चे खेलने आते हैं। आमतौर पर ऐसी जगहों पर लोग आने से डरते हैं। ऐसे में लोगों के मन से डर को निकालने के लिए उन्होंने श्मशान का मुख्य द्वार फूलों से सजाया, पार्टी प्लॉट की तरह लाइटें लगवाई। अब यह श्मशान किसी सार्वजनिक स्थल की तरह बन गया है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement