Advertisement

चेन्नईः परिवार मुश्किल में था, लेकिन रामनन दफ्तर से देते रहे मौसम समाचार

author image
10:28 am 7 Dec, 2015

Advertisement

कुछ लोग बिपत्ति की घड़ी में भी अपने कर्तव्य का बखूबी निर्वाह करते हैं। ऐसे ही लोगों में एक हैं एस.आर. रामनन। चेन्नई में आई आफत की बारिश और बाढ़ भी एरिया साइक्लोन वार्निंग सेन्टर के निदेशक रामनन को अपने कर्तव्य से डिगा नहीं सकी। उनका परिवार मुश्किल में था, इसके बावजूद वह अपने दफ्तर में डंटे रहे और मौसम का समाचार चेन्नई के लोगों तक पहुंचाते रहे। वह भी एक या दो दिन नहीं, कई दिनों तक।

जी हां, एकमात्र रामनन ही थे, जो स्थानीय लोगों को यह बताते थे कि मौसम कौन सा करवट बदलेगा और कल इसका मिजाज कैसा रहेगा। रामनन की वजह से ही लोगों को पूरे हालात की जानकारी मिल रही थी।

Ramnan

चेन्नई की आफत ने कर्तव्यनिष्ठ रामनन को लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय बना दिया। वह शहर में सोशल मीडिया के फेवरिट बन गए। उन पर बने मीम्स, चुटकुले वायरल हो रहे हैं।


Advertisement

रामनन ने एक अखबार से बातचीत करते हुए बतायाः

मेरा परवार बाढ़ की वजह से फंसा हुआ है। मैं वहां तक पहुंच नहीं सकता। मोबाइल नेटवर्क काम नहीं कर रहा है। मेरे घर तक जाने वाले तमाम रास्ते बन्द हैं। मैं बस पानी के कम होने का इन्तजार कर रहा हूं। यहां मेरे कई साथी भी इसी हाल में हैं।

यही नहीं, कुछ दिन पहले रामनन दफ्तर से घर वापसी के वक्त रास्ते में बाढ़ के पानी में फंस गए थे। अपने सेलिब्रिटी स्टेटस को नकारते हुए वह कहते हैंः “मैं सरकारी कर्मचारी हूं। लोगों को और सरकार को मौसम की जानकारी देना मेरा काम है और मैं यही करता हूं। मैं अगले साल मार्च में रिटायर होने वाला हूं। इस लिहाज से अपने दफ्तर में यह मेरा आखिरी साल है।”

चेन्नई में उपजी आफत ने समाज को कई ऐसे हीरो दिए हैं, जिन पर हम भारतीय गर्व कर सकते हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement