Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद कर रही है यह ‘नेकी की दीवार’

Updated on 31 December, 2016 at 2:01 pm By

कहते हैं एक इंसान का सकारात्मक प्रयास पूरे समाज को बदलने की ताकत रखता है। इसी प्रयास में एक पहल की शुरुआत की गई है, जिसका नाम है नेकी की दीवार।

गरीबों के लिए सौगात बनकर आई ये नेकी की दीवार उन गरीब लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जिनके पास मौसम की मार से बचने के लिए दो जोड़ी कपडे भी नहीं होते।


Advertisement

wall

ये वो दीवार है, जहां पर लोग, गरीबों के लिए कपड़े रख जाते हैं। लखनऊ के सिविल लाइन अस्पताल में अन्न-जल सेवा ट्रस्ट द्वारा शुरू की गई इस पहल का उद्देश्य गरीब और जरूरतमंदों लोगों के लिए कपड़ों की व्यवस्था करना है। इसके साथ ही यह ट्रस्ट सिविल अस्पताल में जरूरतमंद मरीजों को खाने का इंतजाम भी करता है।

इस नेकी की दीवार पर लोग अपने घर में जरूरत से ज्यादा पड़े कपड़े, जूते, खिलौने आदि लेकर रख जाते हैं और जरूरतमंद अपनी जरूरत के हिसाब से इन्हें ले जा सकते हैं। लोगों की मदद के लिए ट्रस्ट की तरफ से यहां वॉलंटियर भी तैनात किए गए हैं।



wall

ऐसे ही एक पहल चंडीगढ़ की एक गैर-सरकारी संस्था ‘युवासत्ता’ ने भी की है। इन्होंने लोगों से उनके पास काम में न आने वाले कपड़े और जूते दान करने की अपील की है।

wall

नेकी की दीवारों के नाम से जानी जाने वाली ये दीवारें अब ग़रीबों के लिए मदद ले कर आई हैं।


Advertisement

साभार: SUNO

Advertisement

नई कहानियां

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं


नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर