जूबा में फंसे भारतीयों को लेकर लौटे जनरल वीके सिंह, उनके अथक प्रयासों की हो रही है प्रशंसा

author image
Updated on 15 Jul, 2016 at 3:08 pm

Advertisement

विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह की अगुवाई में चलाए गए संकट मोचन ऑपरेशन के अंतर्गत भारतीय वायुसेना का सी-17 ग्लोबमास्टर विमान युद्ध प्रभावित दक्षिण सूडान की राजधानी जूबा से भारतीयों को सुरक्षित लेकर तिरूवनंतपुरम के रास्ते दिल्ली पहुंचा।

VK Singh

विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह की अगुवाई में गठित वायुसेना की टास्क-फ़ोर्स ने इस अभियान को सफतापूर्वक अंजाम दिया।

VK singh

वीके सिंह ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा: “अगर आप भारत की महानता का एहसास करना चाहते हैं, तो आपको सी -17 में मौजूद होना चाहिए, जो हमारे देश के लोगों को आपदा की स्थिति में विदेश की धरती से भारत वपास लेकर आया।”

VK Singh


Advertisement

आगे उन्होंने कहा: “जिस विमान में वे सवार थे वह भारत माता की जय से गूंज उठा। उस उड़ान में, कोई कुछ नहीं, सिर्फ एक देशभक्त हो सकते हैं।”

VK Singh

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट कर ऑपरेशन संकट मोचन को लेकर जानकारी दी:

दक्षिण सूडान में पूर्व विद्रोहियों और सरकार के बलों के बीच देश के कई हिस्सों में पूर्व विद्रोही और सैनिकों के बीच भारी संघर्ष जारी है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक उच्च स्तरीय बैठक कर दक्षिण सूडान में फंसे भारतीय नागरिकों के सुरक्षित निकलने के लिए टास्क-फ़ोर्स का गठन करने का निर्णय लिया था। जिसके बाद विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह के नेतृत्व में बनी टास्क-फ़ोर्स जूबा के लिए रवाना हो गई थी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement