BCCI ने विराट कोहली की कर दी टाएं-टाएं फिश, विदेशी दौरों पर नहीं मिलेगा अनुष्का का साथ

Updated on 8 Oct, 2018 at 4:53 pm

Advertisement

भारतीय टीम के ताबड़तोड़ बल्लेबाज विराट कोहली ने बीसीसीआई के सामने मांग रखी कि विदेशी दौरों पर खिलाड़ियों की पत्नियों को टीम के साथ पूरे दौरे पर रहने की इजाज़त दी जाए। मौजूदा समय में खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ की पत्नियां केवल दो सप्ताह के लिए ही रह सकती हैं, लेकिन भारतीय कप्तान चाहते हैं कि खिलाड़ियों की पत्नियों को पूरे दौरे पर साथ रहने दिया जाए।

 

 


Advertisement

कोहली ने बीसीसीआई के एक बड़े अधिकारी के सामने इस मुद्दे को उठाया, जिसके बाद अधिकारी ने यह मांग विनोद राय और डायना एडुलजी की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (CoA) तक पहुंचाई।

 

ख़बर है कि COA (कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर) ने इस संबंध में भारतीय टीम के मैनेजर सुनील सुब्रमण्यम से नियम बदलने के लिए लिखित दरखास्त देने को कहा।

 

 

यह पहला मौका नहीं है जब कोहली ने बीसीसीआई के सामने एक विराट मांग रखी हो, इससे पहले भी कई मुद्दों को लेकर कोहली बोर्ड को कड़े तेवर दिखा चुके हैं। कुछ वक्त पहले विराट ने बीसीसीआई के कड़े शेड्यूल को लेकर आवाज़ उठाई थी, जिसे बीसीसीआई ने मान लिया था । इतना ही नहीं विराट ने खिलाड़ियों को बोर्ड को होने वाली सलाना कमाई से उनका वाजिब हिस्सा देने पर भी दवाब बनाया था।

 

 

गौरतबल है कि विदेशी दौरों पर विराट की पत्नी और एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा कई बार उनके साथ नज़र आ चुकी हैं। हाल ही में इंग्लैंड दौरे पर इस बात को लेकर विवाद भी उठा था कि आखिर खिलाड़ियों की पत्नियां उनके साथ विदेशी दौरों पर क्यों होती हैं। यह विवाद तब उठा था जब लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग में अनुष्का शर्मा भारतीय टीम के साथ नज़र आई थीं।

विराट कोहली द्वारा क्रिकेटर्स की पत्नियों को विदेशी दौरों पर साथ रखने की दरख्वास्त  को फिलहाल बीसीसीआई ने खारिज कर दिया है। कोहली के इस फरियाद को सीओए के पास पहुंचाया गया था, लेकिन वहां से इसे हरी झंडी नहीं दी गई। प्रशासकों की समिति के एक अधिकारी का कहना है कि भारतीय कप्तान की इस मांग पर जल्दबाजी में कोई भी फैसला नहीं लिया जा सकता है। फिलहाल नीतियों में अभी किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement