Advertisement

सचिन और कपिल के बाद मैडम तुसाद म्‍यूजियम में लगने जा रहा है इस भारतीय क्रिकेटर का पुतला

author image
3:29 pm 29 Mar, 2018

Advertisement

आपने मैडम तुसाद म्यूजियम के बारे में जरूर सुना होगा। लंदन की मैरिलेबॉन रोड पर स्थित ये म्यूजियम अपने मोम के पुतलों के लिए दुनियाभर में विख्यात है। यहां अपने-अपने क्षेत्र में ख्याति प्राप्त करने वाले दुनिया की मशहूर हस्तियों के मोम के पुतले रखे गए हैं। म्यूजियम में लगभग 400 से ज्यादा हस्तियों की मूर्तियां हैं, जिन्हें देखकर लगता है मानो वह आपने सामने ही खड़े हों।

 

 

लंदन के अलावा मैडम तुसाद म्यूजियम एम्सटर्डम, न्यूयॉर्क, हांगकांग, शंघाई आदि जगहों पर हैं। वहीं, हमारे देश की राजधानी दिल्ली में भी मैडम तुसाद म्यूजियम है।

पिछले साल दिसम्बर 2017 में इस म्यूजियम को आम लोगों के लिए खोला गया। मध्य दिल्ली के कनॉट प्लेस की ऐतिहासिक रीगल इमारत में बना ये म्यूजियम लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र है।

 

 

दिल्ली के मैडम तुसाद म्यूजियम में बॉलीवुड और हॉलीवुड सहित कई जानी मानी हस्तियों के मोम के पुतले है। म्यूजियम को सात खंडों में विभाजित किया गया है, जिसमें इतिहास, खेल, संगीत, फिल्म और राजनीतिक जगत की मशहूर 51 हस्तियों के मोम से बने पुतलों को रखा गया है।

अगर आप भी अमिताभ बच्चन, पीएम नरेंद्र मोदी, सचिन तेंदुलकर, मधुबाला, सलमान खान, आशा भोसले या फिर लेडी गागा के साथ सेल्फी लेना चाहती हैं तो यहां आपको हर सितारा नजर आएगा।

 

 


Advertisement

अब इन्ही हस्तियों की लिस्ट एक और नाम शुमार होने वाला है। ये शख्स और कोई नहीं, बल्कि क्रिकेट जगत का महारथी है। जल्द ही भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का मोम का पुतला राजधानी दिल्ली के मैडम तुसाद म्यूजियम में शामिल होने जा रहा है। इसके लिए उनकी नाप भी ले ली गई।

 

 

यह पुतला स्पोर्ट्स जोन में रखा जाएगा जहां पहले से खेल की नामी हस्तियों के पुतले हैं। मैडम तुसाद दिल्ली में अपना पुतला लगाए जाने से उत्साहित कोहली ने कहा-

 

“मैडम तुसाद में चुना जाना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। यह मेरे लिए गर्व की बात है। मैडम तुसाद की टीम का बहुत शुक्रिया जिन्होंने पूरी प्रक्रिया के दौरान संयम बनाए रखा। यह मेरे लिए जीवनभर याद रहने वाली घटना है।”

 

 

यहां क्रिस्टियानो रोनाल्डो और कपिल देव के वैक्स स्टैचू पहले से रखे हुए हैं।

 

कोहली ने मलेशिया में अंडर-19 वर्ल्ड कप में विजेता बनी भारतीय टीम का नेतृत्व किया था। इसके बाद उन्हें टीम में जगह मिली। शुरुआत में उनका करियर जरूर डगमगाया, लेकिन आज वह जिस मुकाम पर वह काबिलेतारीफ है। अपने अच्छे प्रदर्शन और लीडरशिप क्वालिटी के बलबूते उन्हें 2013 में टीम इंडिया की कमान सौंपी गई।

 

 

कोहली के शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें आईसीसी वल्र्ड क्रिकेट प्लेयर ऑफ द ईयर-2017, बीसीसीआई इंटरनेशनल क्रिकेट प्लेयर ऑफ द ईयर-2011-12, 2014-15, 2015-16, अर्जुन पुरस्कार जैसे कई पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है। पिछले साल ही भारत सरकार ने कोहली को पद्मश्री से भी सम्मानित किया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement