Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

सिर्फ 10 दिनों में 352 बार भूकंप के झटके सह चुका है ये द्वीप

Published on 18 October, 2017 at 8:32 pm By

भूकंप एक झटके में धरती को तहस-नहस करने की क्षमता रखता है।

वैज्ञानिक भी हैरान हैं कि कैसे पिछले 10 दिन में एक द्वीप पर 352 बार भूकंप के झटके आ चुके हैं। बता दें कि ‘ला पलमा’ आइलैंड में पिछले एक सप्ताह में करीब 300 से अधिक बार भूकंप आ चुके हैं। हालांकि, वैज्ञानिकों ने बताया है कि हल्के झटके आ रहे हैं, जिससे नागरिकों को चिंता करने की कोई बात नहीं है।

लगातार आ रहे भूकंप के झटकों के कारण अब वैज्ञानिक ‘ला पलमा’ में धरती की अंदरूनी गतिविधि पर नजर रख रहे हैं। साथ ही वैज्ञानिकों ने आइलैंड पर स्थित सक्रिय ज्वालामुखी के स्लोप्स की जांच करने का भी फैसला किया है। प्रतिदिन लगभग 40 झटके रिकार्ड किए जा रहे हैं, जिनकी तीव्रता 2 से 3 के बीच की होती है।

नैशनल जिऑग्रफ़ी इंस्टिट्यूट का कहना हैः


Advertisement

‘आइलैंड पर स्थित ज्वालामुखी को हमेश निगरानी में रखना होगा। लिहाजा पूरी की पूरी एक टीम को ही स्टडी के लिए भेजा जाएगा।’

यह द्वीप पर्यटकों में खासा लोकप्रिय है। नैशनल जिऑग्रफ़ी इंस्टिट्यूट के रिपोर्ट में 3 नए मॉनिटरिंग स्टेशन को भूकंप का कारण बताया गया है।

गौरतलब है कि यहां इससे पहले इतने लगातार भूकंप के झटके आते नहीं देखे गए थे। लिहाजा इसकी निगरानी बढ़ा दी गई है। वैज्ञानिक गंभीरता से स्टडी में लगे हैं कि कोई दुर्घटना न होने पाए।

Advertisement

नई कहानियां

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं


नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Nature

नेट पर पॉप्युलर