अब अपनी गाड़ियों पर नहीं लगा पाएंगे हनुमान जी की ये मशहूर तस्वीर, जानिए वजह

author image
Updated on 11 May, 2018 at 9:47 pm

Advertisement

आपने पवनपुत्र हनुमान की केसरिया रंग में रंगी एक तस्वीर कई गाड़ियों के बैक विंडोज पर देखी होगी। बाजार में और ऑनलाइन भी हनुमान जी के इस अवतार के स्टीकर्स तेजी से बिक रहे हैं।

 

इस तस्वीर ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है। पीएम मोदी भी इस तस्वीर के तेज से अछूते नहीं है। उन्होंने कर्नाटक की एक रैली में इस तस्वीर को बनाने वाले आर्टिस्ट करण आचार्य की जमकर तारीफ की। पीएम ने अपने भाषण के दौरान कहाः

 

“करण आचार्य ने हनुमान जी की जो तस्वीर बनाई उसकी देशभर में गूंज उठी। देश भर में उसकी चर्चा हुई और वह बहुत प्रशंसनीय है। मैंने देखा कि देशभर के टीवी वाले करण आचार्य का इंटरव्यू लेने के लिए कतार लगाकर खड़े थे।”

 

 

अपने सौम्य और प्रसन्न चरित्र के लिए जाने जानेवाले बजरंगबली इस तस्वीर में क्रोधित मुद्रा में नजर आ रहे हैं, लेकिन इस तस्वीर की असल सच्चाई ये नहीं है।

 

केरल के कासरगोड जिले के रहने वाले करण आचार्य ने 2015 में यह तस्वीर बनाई थी। प्रधानमंत्री से प्रशंसा पाकर करण बेहद खुश तो हैं ही साथ ही आश्चर्यचकित भी हैं।

 


Advertisement

 

उनके दोस्त उन्हें काल कर बधाइयां दे रहे हैं। पहले तो उन्हें विश्वास ही नहीं हुआ, लेकिन जब उन्होंने रैली का विडियो देखा तो वह खुशी से गदगद हो गए।

अपने डिजाइन के बारे में बात करते हुए आचार्य ने बताया कि उन्होंने 2015 में ये डिजाइन तब बनाया था, जब उनके दोस्तों ने गणेश चतुर्थी  के मौके पर कुछ अलग बनाने को कहा। करण ने बताया कि वह हनुमान जी के भक्त है, लिहाजा उन्होंने पवनपुत्र भगवान की ही तस्वीर बनाने का निर्णय लिया। उन्होंने बतायाः

 

“गणेश चतुर्थी के दौरान मेरे दोस्तों ने एक ऐसी तस्वीर बनाने को कहा जो काफी यूनीक हो। हमने कुछ अलग आर्टवर्क करने की सोची। गूगल में सर्च करने पर भगवान हनुमान की कई तस्वीरें आती हैं। मैंने उनसे कुछ अलग करने की सोची। मैंने एक ही रंग से हनुमान की तस्वीर बनाने के बारे में सोचा। मैंने भगवा रंग चुना क्योंकि यह हनुमान का प्रतीक माना जाता है। इस आर्ट को बनाने में आधे घंटे का समय लगा। मुझे यकीन नहीं था कि ये तस्वीर इतनी वायरल हो जाएगी। यह मेरी जिंदगी का सबसे यादगार पल है।”

 

 

उन्होंने आगे यह भी बताया कि इस तस्वीर में उन्होंने  भगवान को क्रोधित नहीं, बल्कि उनके ऐट्टिट्यूड को दर्शाया है।

करण ने आगे यह भी कहा कि शुरू में उन्होंने बिना किसी वाटरमार्क के तस्वीर शेयर कर दी थी,  इसलिए अब वह जल्द ही इस तस्वीर पर कॉपीराइट ले सकते हैं।
 

बता दें कि अगर कोई व्यक्ति कॉपीराइट कंटेंट को उसके मालिक की अनुमति के बिना या बिना लाइसेंस प्राप्त किए फोटो, वीडियो, गाना, सॉफ्टवेयर या कोई भी कंटेंट का प्रयोग करता है तो इसे सीधा कॉपीराइट की शर्तों का उल्लंघन माना जाता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement