नशे में धुत्त नहीं था यह पुलिसवाला, जूझ रहा था ब्रेन स्ट्रोक से

author image
Updated on 22 Mar, 2016 at 1:55 pm

Advertisement

हाल ही में एक पुलिसवाले का विडियो सोशल मीडिया पर यह कहते हुए शेयर किया जा रहा था कि वह नशे में धुत्त था, लेकिन असलियत कुछ और थी। दरअसल सलीम नामक दिल्ली पुलिस का यह जवान मेट्रो ट्रेन में ब्रेन स्ट्रोक से जूझ रहा था।

इस विडियो को इन्टरनेट पर कुछ इस तरह प्रचारित किया गया कि लगा जैसे सलीम नशे में धुत्त होकर ऐसी हरकतें कर रहे थे। वायरल होने के बाद टीवी चैनलों ने इसी आधार पर सुर्खियां बना दीं। लाखों लोगों ने इस विडियो को देखा और अपनी प्रतिक्रिया दी।

दिल्ली पुलिस में हेड कांस्टेबल पद पर तैनात, सलीम की ज़िन्दगी इस भ्रामक विडियो की वजह से बर्बाद होने की कगार पर थी। उन्हें पुलिस महकमे ने निलंबित कर दिया और किसी ने भी सच तक पहुंचने की कोशिश नहीं की।

जब पुलिस ने अपनी जांच की और सलीम के मेडिकल रिकॉर्ड का वेरिफिकेशन किया गया, तब यह बात सामने आई कि सलीम गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित थे। उस दिन वह नशे में नहीं थे, बल्कि उन्हें ब्रेन स्ट्रोक आया था।

3 साल पहले सलीम को एक प्राणघाती स्ट्रोक आया था, जिस कारण उन्हें डेस्क की जिम्मेदारी दी गई थी। उनकी हालत ऐसी थी कि उन्हें अपनी दवा सही टाइम और अपनी सेहत का ख़ासा ध्यान रखना होता था, लेकिन उस दिन वह अपनी दवा लेना भूल गए थे।

पुलिस जांच में सच सामने आने के बाद उन्हें दिल्ली पुलिस सर्विस में फिर से बहाल कर दिया गया। अपनी गलती मानते हुए दिल्ली पुलिस ने उनके निलंबन अवधि को ‘ड्यूटी पर तैनात’ घोषित किया।



अब सलीम की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए, सोशल मीडिया के कारण जो बदनामी का सामना उनके पति और उनके परिवार को करना पड़ा इसके लिए मुआवजे की मांग की है।

मुआवजे के अलावा, सलीम चाहते है कि सोशल मीडिया से इस विडियो को हटाया जाए। वहीं, दिल्ली सरकार, पुलिस कमिश्नर, दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन और प्रेस काउंसिल ऑफ़ इंडिया उनके सम्मान को वापस लौटाने के लिए सही जानकारी प्रकाशित करे।

वहीं, उन्होंने मीडिया को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि मीडिया अपनी गैर-ज़िम्मेदाराना हरकत की सफाई दे।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement