इस गांव के घरों में नहीं होते दरवाजे, फिर भी आज तक एक बार भी नहीं हुई चोरी

Updated on 18 Nov, 2017 at 8:17 pm

Advertisement

आज सामान क्या, लोग ही सुरक्षित नहीं रह गए हैं। आए दिन चोरी की घटनाएं आम हैं। यही वजह है कि लोग अब चोरी की घटनाओं से निजात पाने के लिए न केवल सीसीटीवी कैमरे लगवाते हैं, बल्कि सुरक्षा गार्ड्स की सेवाएं भी लेते हैं। हालांकि, इसी देश में एक गांव ऐसा भी है, जहां आज तक चोरी की एक भी वारदात नहीं हुई है। यहां तक कि इस गांव के घरों में मुख्य दरवाजे नहीं होते।

दरअसल, यह आस्था ही है कि लोग अपने घरों में दरवाजे नहीं लगाते। और यही आस्था है कि यहां चोरी की घटनाएं नहीं होती हैं।

यह गांव महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के नेवासा तालुके में बसा है। गांव का नाम है शनि शिग्नापुर। यह देश का ऐसा इकलौता गांव है, जहां लोग अपने घरों में सुरक्षा के लिए ताला भी नहीं लगाते। यह गांव पूरी दुनिया में मशहूर हो गया है। मान्यता है कि गांव की रक्षा शनि देव करते हैं चोरी करके कोई भी इस गांव से बाहर नहीं जा पाता। उस पर शनि देव का कहर बरपता है।


Advertisement

चूंकि लोग मानते हैं कि शनिदेव यहां विराजते हैं, आस्था प्रकट करने के लिए घरों में दरवाजे नहीं लगाए जाते। यह एक पुरानी प्रथा है और इसे लोग आज भी वैसे ही मानते हैं। यहां आने वाले लोग भी अपने वाहनों में टला नहीं लगाते।आस्था का आलम यह है कि यहां के लोग सामान रखने के लिए अलमारी या तिजोरी का इस्तेमाल नहीं करते।

लोग तो लोग व्यापारिक संस्थान, दुकानें अथवा बैंक भी यहां ताले नहीं लगाते। यूके बैंक ने यहां बिना तालों वाला ब्रान्च खोला है, जिसे दुनिया में इस तरह का अकेला बैंक बताया जा रहा है। हालांकि, गांव छोटा है, लेकिन समृद्ध है। साथ ही यहां का कोई भी मकान दो मंजिला नहीं रहता।

पूरी दुनिया में यह गांव न सिर्फ एक मिसाल है, बल्कि महत्वपूर्ण सन्देश भी देता है!

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement