छक्का गांव के शर्मिंदा निवासियों ने नाम ही बदलवा डाला, जानिए क्या है नया नाम

Updated on 6 Jun, 2018 at 6:08 pm

Advertisement

जगह के नाम बदलने पर आजकल राजनीति खूब हो रही है। चाहे गुडगांव शहर हो या मुगलसराय स्टेशन, सोशल मीडिया पर सहमति और असहमति के पोस्ट भरे हुए हैं। हालांकि, हम यहां बात मुगलसराय या गुड़गांव की नहीं करेंगे। यहां हम एक अजीब वाकए को लेकर आए हैं, जिसमें छक्का गांव के लोगों ने ही नाम बदलने की अर्जी दी ही। इतना ही नहीं, सालों की मशक्कत के बाद नाम बदल भी गया है।

 

दरअसल, गांव का नाम छक्का था!

 

 

मध्य प्रदेश के पन्ना ज़िला अवस्थित छक्का गांव के निवासी अपने गांव के नाम को लेकर काफी शर्मिंदा थे। उन्हें बाहरी लोग गांव का नाम लेकर चिढ़ाते थे, जिससे लोग परेशान हो चुके थे। इसको देखते हुए साल 2013 में नाम परिवर्तन को लेकर गांव के लोगों ने अर्जी दी। पूर्व तहसीलदार फै़ज़ मोहम्मद की मानें तो छक्क’ शब्द के कारण निवासियों को उपहास का पात्र बनना पड़ता था।

 

 

जानकारी हो कि साल 1924 में इस गांव का नाम ‘छक्का’ कर दिया गया था। हालांकि, इसके कारणों का पता नहीं चल पाया है। बेहद संतोष की बात है कि लगभग 5 साल तक इंतज़ार के बाद आखिरकार गांव का नाम बदल दिया गया है। अब इस गांव को महागवन छक्का के बदले महागवन सरकार कहा जाएगा।


Advertisement

 

इसके साथ ही गांव महागवन ‘टिलिया’ के लोगों को भी अपने गांव के नाम पर आपत्ति थी, उसे भी बदल दिया गया है। अब ये गांव महागवान ‘टिलिया’ से बदलकर महागवन घाट के रूप में जाना जाएगा। ये गांव पन्ना ज़िले के शाहपुरा तहसील में हैं। ज़िला कलेक्टर मनोज खत्री ने नाम परिवर्तन के विषय में जानकारी दी है।

 

 

भोपाल राजस्व विभाग ने 25 मई को गांव के नाम संबंधी अपने एक नोटिस में ये बात कही है।

 

2011 की जनगणना के अनुसार महागवन सरकार में 280 परिवार रहते हैं, जिनकी कुल आबादी 1,139 है। 5 साल के लंबे इंतज़ार के बाद अब गांव के लोग कम से कम नाम को लेकर संतुष्ट हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement