बम धमाके में हाथ खोने वाली इस लड़की के कायल हुए शेफ विकास खन्ना

6:43 pm 1 Aug, 2017

Advertisement

“हिम्मत करने वालों की कभी हार नहीं होती है।”

मालविका अय्यर ने महज 13 साल की उम्र में एक बम धमाके में अपने दोनों हाथ खो दिए, पैरों में कई फ्रैक्चर हुए, नर्व पैरलाइज्ड हो गए। मालविका के जीने की संभावना क्षीण थी। वह करीब 18 महीने तक अस्पताल में एक के बाद एक कई सर्जरी झेलती रही।

मालविका अय्यर।

बीकानेर में रहने वाली अय्यर किस्मत के आगे लाचार थी, लेकिन उसने हार नहीं मानी। किस्मत से लगातार जूझ रही मालविका विपरीत परिस्थितियों में जीतने की आदी रही है। फिलहाल उसने खास कर दिखाया है। उसने पहली बार खुद से कुकिंग कर ट्विटर पर अपने अनुभव को शेयर किया है। मालविका TEDx की स्पीकर तो है ही, वह UN Women and Global Shapers Community का भी हिस्सा है।


Advertisement

इस ट्वीट के बारे में जब सेलिब्रिटी शेफ विकास खन्ना को पता चला तो वह मालविका की खुलकर तारीफ की। साथ उसके साथ कुकिंग का वादा भी किया।

मालविका ने इसका जवाब दिया है।

मालविका की कहानी से यह बात साबित होती है कि अादमी अगर ठान ले तो उसके लिए कोई भी चुनौती कठिन नहीं है। बस हिम्मत होनी चाहिए।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement