ढाका हमलाः विश्वविद्यालय के उपकुलपति ने की थी आतंकवादियों की मदद?

author image
Updated on 17 Jul, 2016 at 4:43 pm

Advertisement

ढाका हमले के मामले मे पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक निजी विश्वविद्यालय के कार्यवाहक उपकुलपति सहित दो अन्य लोगों को आतंकवादियों को पनाह देने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

पिछले दिनों बांग्लादेश की राजधानी ढाका के अति-सुरक्षित कहे जाने वाले डिप्लोमैटिक जोन में हुए हमले में 22 लोग मारे गए थे। यह बांग्लादेश में अब तक का सबसे भीषण आतंकवादी हमला था।

इस रिपोर्ट में ढाका मेट्रोपोलिटन पुलिस के उपायुक्त मसूदउर रहमान के हवाले से बताया गया हैः


Advertisement

‘होली आर्टिजन बेकरी पर हमला करने वाले हमलावरों को फ्लैट किराए पर देने वाले नार्थ साउथ यूनिवर्सिटी (एनएसयू) के कार्यवाहक उपकुलपति गयासुद्दीन अहसान को कल गिरफ्तार कर लिया गया।’

अहसान के दो रिश्तेदारों आलम चौधरी और महबूबउर रहमान तुहीन को भी गिरफ्तार किया गया है।

कार्यवाहक उपकुलपति गयासुद्दीन अहसन

बताया गया है कि ढाका हमले में शामिल पांच आतंकवादियों में से एक ने अहसान के फ्लैट में शरण ली थी। फ्लैट से कई कार्टन बरामद किए गए थे, जिनमें रेत भरे हुए थे।

पुलिस द्वारा मारे गये आतंकवादियों में से एक एनएसयू का छात्र था। उसके परिवार ने बताया कि वह महीनों से गायब था।

ढाका हमले में शामिल आतंकवादी।

इस बीच, खबरों में बताया गया है कि एनएसयू के एक शिक्षक हसनत रेजा करीम भी बंधकों में से एक थे। प्रतिबंधित इस्लामिक संगठन हिज्बउत तहरीर से संबंध की खबर के कारण उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement