इस विमान को हवाईपट्टी की भी जरूरत नहीं, कहीं से भी टेक ऑफ और लैंडिंग

Updated on 9 Oct, 2018 at 9:57 am

Advertisement

तकनीक तेजी से विकसित होकर मानव समाज को आगे बढ़ने में सहायक हो रही है। पारंपरिक यातायात के साधन पीछे छूटते जा रहे हैं, तो वहीं आधुनिक आविष्कार ने हमें गतिमान बना दिया है। इस दिशा में ये अमेरिकी आविष्कार बेहद उपयोगी साबित हो सकता है। 6 सीट वाले ऐसे विमान तैयार किए जा रहे हैं, जिसे हवाईपट्टी की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। लिहाजा ये आवागमन के तौर-तरीकों को बदल कर रख सकता है।

खबर की मानें तो विमान के 15 प्रोटोटाइप को बनाकर तैयार कर लिया गया है!

 

 


Advertisement

गौरतलब है कि इस विमान सेवा के लिए एयरस्ट्रिप या रनवे बनाने की बाध्यता से विमान कंपनी बच सकेगी और इससे कोई ख़ास हवाई अड्डों की भी जरूरत नहीं होगी। ये विमान गति के मामले में भी कमतर नहीं हैं, बल्कि में 700 किमी की दूरी तय करने में सक्षम होंगे। बताया जा रहा है कि इस विमान सेवा को अमेरिका के 42 प्रांतों में सबसे पहले उपलब्ध कराया जाएगा। बाद में दुनिया हिस्सों में सेवा पहुंचाने की योजना पर काम किया जाएगा।

 



जानकारी हो कि अमेरिका की ट्रांसेंड एयर कंपनी इस पूरी योजना पर काम कर रही है। इसे 2024 तक पूरी दुनिया में लांच किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि यह व्यावसायिक एयरलाइन की तरह सेवा देगी। ट्रांसेंड एयर चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर पीटर की मानें तो वे सुरक्षा के मानदंड को पूरा करने के लिए कुछ समय ले रहे हैं। अगर योजना सफल रही तो इस विमान सेवा से न्यूयॉर्क से बोस्टन आधे घंटे में, तो वहीं लॉस एंजिल्स से सैन फ्रांसिस्को व टोरंटो से मॉन्ट्रियल लगभग घंटे भर में पहुंच सकेंगे।

 

 

खास बात इसकी लैंडिंग ही है जिससे ये किफायती और आकर्षक होने वाला है। कंपनी की मानें तो विमान नदी, तालाब या समुद्र की सतह पर फ्लोटिंग प्लेटफॉर्म पर भी सक्षम होगा। इस विमान सेवा के संचालन के लिए एयरपोर्ट नहीं बनाने होंगे तो वहीं सीमित जगह की वजह से फ्लाइट अटेंडेंट की सुविधा नहीं रहेगी। यह विमान सेवा यातायात को सहज-सरल बना सकता है!


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement