देश के शक्तिशाली लोगों में शुमार हैं ये तीन शख्स, उत्तराखंड के एक ही जिले से है ताल्लुक

author image
Updated on 21 Dec, 2016 at 9:48 pm

Advertisement

जहां उत्तराखंड को देवभूमि कहा जाता है, वहीं स्थानीय लोग इस देवभूमि को वीरभूमि भी मानते हैं, जिसने देश को कई बहादुर जवान दिए हैं। इस धरती के कई वीर, देश के महत्वपूर्ण पदों पर तैनात रहते हुए अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

भारत के सबसे शक्तिशाली लोगों में शुमार होने वाले तीन लोगों की जड़ें उत्तराखंड के एक ही जिले पौड़ी गढ़वाल से जुड़ी हैं।

पौड़ी गढ़वाल राज्य के दक्षिण में स्थित है और उत्तर प्रदेश के साथ अपनी एक सीमा साझा करता है। यह जिला आजकल इसलिए सुर्ख़ियों में हैं, क्योंकि अगले भारतीय सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत, देश की खुफिया एजेंसी रॉ के प्रमुख बने अनिल कुमार धस्माना और मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की जन्मस्थली पौड़ी गढ़वाल ही है।

pauri

उत्तराखंड में पौड़ी गढ़वाल जिला

नए सेना प्रमुख बिपिन रावत पौड़ी जिले के द्वारी खाल विकासखंड के सैणा गांव से आते हैं।

बिपिन रावत एक जनवरी 2017 से भारतीय सेना के नए प्रमुख के बतौर कार्यभार संभालेंगे। वह अभी वाइस आर्मी चीफ की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। 26वें सेना प्रमुख के चुनाव में सरकार ने वरिष्ठता के सिद्धांत को दरकिनार कर बिपिन रावत को उनके अभियानों के अनुभवों के बदौलत इस पद के लिए चुना।


Advertisement

उत्तराखंड के एक और लाल ने प्रदेश का गौरव बढ़ाया है। देश की खुफिया एजेंसी रॉ के प्रमुख बने 1981 बैच के आइपीएस अधिकारी अनिल कुमार धस्माना मूल रुप से पौड़ी जिले के तोली गांव के रहने वाले हैं।

anil kumar

अनिल कुमार धस्माना

वहीं, भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में तैनात अजीत डोभाल का जन्म पौड़ी गढ़वाल के घीड़ी बानेलस्यूं गांव में हुआ। वह 2014 से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद पर तैनात हैं।

ajit

पीएम मोदी के साथ अजीत डोभाल 99cars

उत्तराखंड के वीर सपूत हमेशा अपनी बहादुरी से प्रदेश के साथ ही देश का भी मस्तक गर्व से ऊंचा करते आए हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement