भारत से चोरी हुई 200 मूर्तियों को अमेरिका ने लौटाया, कीमत 10 करोड़ डॉलर

author image
Updated on 7 Jun, 2016 at 5:44 pm

Advertisement

भारत से चोरी गईं करीब 200 से अधिक कलाकृतियों को अमेरिका ने लौटा दिया है। इन कलाकृतियों की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 10 करोड़ डॉलर यानी 660 करोड़ रुपए से अधिक बताई जा ती है। इन कलाकृतियों में मूर्तियां, कांसे और टैराकोटा की प्रतिमाएं शामिल हैं।

यहां ब्लेयर हाउस में एक समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहाः

‘कुछ लोगों के लिए इन कलाकृतियों की कीमत मुद्रा के रूप में हो सकती है लेकिन हमारे लिए यह इससे कहीं ज्यादा है. यह हमारी संस्कृति और विरासत का हिस्सा है।’

इनमें से कई कलाकृतियां 2 हजार साल से भी अधिक पुरानी हैं। इन्हें भारत के सबसे सम्पन्न धार्मिक स्थलों से लूटा गया था। लौटाई गईं चीजों में संत माणिककविचावकर तथा भगवान गणेश की कांसे की मूर्ति है। ये मूर्तियां 1 हजार साल से अधिक पुरानी हैं।


Advertisement

इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए अमेरिकी अटॉर्नी जनरल लोरेटा ई मिंच ने कहाः

“भारत के शानदार इतिहास और खूबसूरत संस्कृति को बयां करने वाली ये कलाकृतियां अपने घर वापस जाने के सफर की शुरुआत कर रही हैं। अमेरिकी लोगों की उम्मीद है कि इन्हें स्वदेश लौटाया जाना भारत की संस्कृति के प्रति हमारे सम्मान का, इसकी जनता के प्रति हमारी गहरी सराहना और दोनों देशों के बीच के संबंधों के प्रति हमारी प्रशंसा का प्रतीक बनेगा।”

गौरतलब है कि अधिकतर मूर्तियां वर्ष 2007 में ऑपरेशन हिडन आइडल के दौरान बरामद की गईं थीं।

इस संबंध में आर्ट ऑफ द पास्ट नामक गैलरी के मालिक सुभाष कपूर हिरासत में लिया गया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement