देसी छोरे ने रचाई जापानी गुड़िया से शादी, बेहद मज़ेदार है लव स्टोरी

author image
Updated on 5 Dec, 2016 at 6:05 pm

Advertisement

कहते हैं प्यार न तो कोई सरहद देखता है, न ही देश। लेकिन जब इसी प्यार को शादी के एक खूबसूरत बंधन में बांध दिया जाए, तो निकल कर आती है खुशनुमा कहानियां। वो कहानियां जिसमें बिछड़ना है, तो मिलन भी है। कहीं राह अलग हो जाने का डर है, तो वहीं मंज़िल को पा लेने का सुकून भी। एक तरफ जहां संस्कृति, समाज, परिवार की अपनी उलझने हैं, तो वहीं दूसरी तरफ प्रेम की एक भाषा है, जो सब मुश्किलों को एक सुर में सज़ा कर जीवन का रूप दे देती है।

कुछ ऐसे ही कहानी है मिर्जापुर जिले के औरईया के रहने वाले निखिल और जापान की आईजुमिको की रहने वालीं आयुमी की, जिनको पहले प्यार हुआ और अब दोनों ने शादी रचा ली है।

2

देसी छोरे ने जापान की गुड़ि‍या के साथ लिए 7 फेरे, दूर-दूर से देखने आ रहे है लोग।

उत्तरप्रदेश के मिर्ज़ापुर में शुक्रवार को हुई एक शादी जापान से आए मेहमानो के लिए ख़ास थी। एक तरफ जहां इन मेहमानों को भारतीय संस्कृति से परिचित होने का मौका मिला था। वही स्थानीय लोगों के लिए जापानी गुड़िया सी प्रतीत हो रही दुल्हन को देखना चर्चा का विषय बना हुआ था। इस शादी को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग जुटे थे। इन रोचकता के बीच गंगा के किनारे रहने वाले छोरे निखिल ने दुल्हन बनी जापान की आयुमी के साथ फेरे लिए और शादी के सातों वचन निभाने का वादा भी किया।

1

पहले हुई दोस्ती, फिर प्यार और अब शादी।

जापान की रहनेवाली दुल्हन आयुमी और निखिल की लव स्टोरी भी अन्य प्रेम कहानियों की तरह ही बेहद मज़ेदार है। निखिल बताते हैं कि जब वे बीएचयू से मास्टर आँफ टूरिज्म का कोर्स कर रहे थे, तो 2013 में कॉलेज फंक्शन के दौरान जापान की आयुमी बीएचयू आई थी। फंक्शन के दौरान ही दोनों की मुलाकात हुई थी।


Advertisement

3

फंक्शन के दौरान बीएचयू के छात्रों को जापान से आए सभी छात्रों के लिए खाना बनाना होता है। बता दें कि जापानी छात्रों को उनके पसंद का खाना दिया जाता है। इसी फंक्शन के दौरान निखिल और आयुमी की मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों में बातचीत होने लगी। पहले तो वो दोस्त बने। फिर, दोनों में प्यार हो गया।

पहले घर वाले नहीं थे राजी पर बेटे के प्यार के आगे झुकना पड़ा।

4

निखिल बताते हैं कि पहले तो घरवाले राजी नहीं हुए। दरअसल, घरवाले कह रहे थे कि विदेशी लड़की गांव में कैसे रहेगी। हालांकि, निखिल ने किसी तरह अपने परिवार को शादी के लिए राजी कर लिया। वहीं, आयुमी के परिजन बेटी की शादी के लिए राज़ी थे।आयुमी अब भारत की बहू बन गई है और वह भारत में शादी रचा कर बहुत खुश हैं। आयुमी कहती है कि उसे सच्चा प्यार मिला है।

Origin: SUNO

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement