हुगली नदी के नीचे से दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन, देश की पहली अंडरवॉटर मेट्रो टनल तैयार

author image
Updated on 24 Jun, 2017 at 10:07 am

Advertisement

कोलकाता में देश की पहली अंडरवॉटर मेट्रो टनल तैयार हो गई है। 60 करोड़ रुपए की लागत से बने इस टनल में जल्द ही ट्रेनें दौड़ेंगी। हावड़ा को कोलकाता से जोड़ने वाली यह टनल हुगली नदी के नीचे बनाई गई है। यह 16.6 किलोमीटर लंबे ईस्ट-वेस्ट मेट्रो परियोजना का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस हिस्से को पार करने में ट्रेन को 1 मिनट का समय लगेगा।

इसके निर्माण के साथ ही कोलकाता शहर का नाम दुनिया के उन चुनिन्दा शहरों में शुमार हो जाएगा जहां मेट्रो ट्रेन नदी के अंदर से गुजरती है। ये शहर हैं लंदन, शिकागो, सैन फ्रैन्सिस्को आदि।

इस सुरंग को जापान के सहयोग से बनाया गया है। यह हुगली नदी की तलहटी से 13 मीटर नीचे हैं। इस सुरंग का भीतरी व्यास 5.55 मीटर और दीवार की मोटाई 275 मिलीमीटर है।



इस टनल का काम पिछले साल अप्रैल में शुरू हुआ था। यानी यह 14 महीने में बनकर तैयार हुई। बताया गया है कि ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर पर वर्ष 2020 तक ट्रेन के परिचालन की उम्मीद है।

इस लाइन पर मेट्रो के परिचालन होने की स्थिति में हावड़ा स्टेशन साल्टलेक सेक्टर 5 से जुड़ जाएगा। इस रूट में राइटर्स बिल्डिंग, सियालदह, फूल बागान, साल्टलेक स्टेडियम, बंगाल केमिकल्स, सिटी सेंटर, सेंट्रल पार्क, करुणामई और साल्ट लेक सेक्टर-5 सरीखे स्टेशन्स होंगे।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement