‘देशद्रोही’ उमर खालिद ने दी आतंकी बुरहान वानी को श्रद्धांजली, सेना और सरकार के खिलाफ उगला जहर

author image
Updated on 10 Jul, 2016 at 7:07 pm

Advertisement

देशद्रोह का आरोप झेल रहे जेएनयू के छात्र उमर खालिद की जुबान ने एक बार फिर जहर उगला है, इस बार उसने कश्मीर में आतंक का पोस्टर ब्वाय बन चुके बुरहान की मौत पर उसकी शान में कसीदे ही नही गढ़े, बल्कि अपने एक फ़ेसबुक के पोस्ट के ज़रिए बुरहान की तुलना अर्जेंटीना के मार्क्सवादी चे ग्वेरा से भी कर दी।

 

12

 


Advertisement

उमर खालिद ने चे ग्वेरा के विचार कि ‘अगर मैं मर जाऊं तो कोई और मेरी बंदूक उठा ले और गोलियां चलाता रहे’ का उदाहरण देते हुए आतंकवादी बुरहान की मौत पर अफ़सोस प्रगट करते हुए कहा कि ‘यही शब्द बुरहान वानी के भी हो सकते थे’।

यही नहीं, उमर ने भारत सरकार को बदनसीब बताते हुए और आतंकी बुरहान को श्रद्धांजली देते हुए कहा:

p1

 

उमर भारत सरकार को कोसते हुए आगे लिखता है: 

p2

उमर ने अपने फेसबुक पोस्ट के ज़रिए सरकार और राष्ट्रवाद पर निशाना तो साधा ही साथ में आतंकी बुरहान की सराहना करते हुए ये तक कह डाला कि बुरहान हमेशा कश्मीर के एकजुट लोगों के दिलों में रहेगा।

इस फ़ेसबुक पोस्ट के कुछ देर बाद ही उमर ने एक दूसरा फ़ेसबुक पोस्ट डाला, जिसमें उसने भारतीय सेना पर भी निशाना साधते हुए ज़हर उगला।

 

12111

 



उमर खालिद ने भारतीय सेना को ‘ट्रोलर’ बताया। साथ में पीछे पड़ जाने की बात करते हुए लिखा:

p3

 

उमर ने सेना पर आरोप लगाते हुए तंज़ भी कसा:

p4

 

उमर का भारतीय सेना के लिए ज़हर उगलना यही बंद नहीं हुआ, उसने तमाम अफवाहों को फिर से हवा देते हुए आगे लिखा:

p5

 

साथ में भारतीय सेना और सरकार से बेबुनियादी सवाल करते हुए लिखा:

p6

 

आपको बता दें कि बुरहान वानी हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर था, जिसको सेना ने शुक्रवार को सुरक्षा बलों के साथ हुई एक मुठभेड़ में मार गिराया था। तुरंत ही बाद देशद्रोह का आरोप झेल रहे जेएनयू छात्र उमर खालिद ने फेसबुक पर पोस्ट कर अपनी प्रतिकिया व्यक्त की थी और श्रद्धांजली भी दी। 

बुरहान वानी के मारे जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में तनाव की स्थिति बनी हुई है 10 लोग की मौत के साथ 200 लोग के घायल होने की सूचना है

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement