कभी सोचा है आखिर कौन उठाता है ब्रिटेन के शाही राजघराने के खर्चे?

Updated on 28 Apr, 2018 at 5:33 pm

Advertisement

21वीं सदी में भी दुनिया के कई देशों में राजशाही की व्यवस्था कायम हैं। शाही परिवारों को आज भी वो ही मान-सम्मान दिया जाता है, जो सदियों पहले मिलता था। ऐसा ही एक शाही परिवार है ब्रिटेन का, जो अक्सर सुर्खियों में बना रहता है। इस शाही परिवार की महारानी एलीजाबेथ का नाम आपने कई बार सुना होगा।

ब्रिटेन का ये राज घराना अपनी विलासिता से भरी जीवनशैली के लिए दुनियाभर में मशहूर है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ब्रिटेन जैसे लोकतांत्रिक देश में इस शाही परिवार या फिर यूं कहे कि राजतंत्र के ऊपर हर साल कितना खर्च होता है?

 

express


Advertisement

 

हाल ही में आई मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ब्रिटेन की महारानी और उनके शाही परिवार पर हर साल करीब 368 मिलियन डॉलर का खर्च होता है।

 

इसका कुछ हिस्सा वहां की सरकार द्वार वहन किया जाता है जब्कि कुछ हिस्सा महारानी के राजकोष से दिया जाता है। इग्लैंड के इस शाही परिवार की आय की बात की जाए तो इसका मुख्य जरिया सोवेरिन ग्रांट यानी शाही अनुदान है। ये अनुदान उन्हें शाही संपदा (क्राउन एस्टेट) से मिलने वाला एक निश्चित भुगतान है।

 

 



मौजूदा व्यवस्था में क्राउन एस्टेट यानि शाही संपदा के सभी अधिकार सरकार के पास है। क्राउन एस्टेट से होने वाला सारा लाभ सरकार को जाता है, जिसमें से 15% हर दो सालों में महारानी को दिया जाता है।

सरकार द्वारा महारानी को दिए जा रहे इस निश्चित भुगतान को शाही अनुदान यानि सोवेरिन ग्रांट के नाम से जाना जाता है। इसका इस्तेमाल शाही परिवार आधिकारिक कर्तव्यों के निर्वहन के साथ-साथ कर्मचारियों के वेतन, महलों के ख़र्च, राजशाही कार्यक्रमों, और कई अन्य सुविधाओं पर करता है।

 

वैसे तो इस राजशाही परिवार की आय के ब्योरे कई बार जारी किए जा चुके हैं, लेकिन फिर भी उनकी कुल संपत्ति का आकलन करना मुश्किल है। दरअसल, इग्लैंड की महारानी अपनी निजी धन-दौलत की जानकारी देने के लिए बाध्य नहीं हैं।

 

हालांकि, साल 2015 में संडे टाइम्स द्वारा जारी एक रिपोर्ट में उनकी अनुमानित दौलत का आकलन किया गया था। इस अनुमान के अनुसार इंग्लैंड के राजशाही परिवार की महारानी क्वीन एलीजाबेथ की कुल संपदा करीब 34 करोड़ पौंड बताई गई थी, जो की भारतीय मुद्रा में 34 अरब रुपये है।

 

popsugar-assets


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement