Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

सुनामी में भी बचा रह गया था तमिलनाडु का यह मंदिर, आसपास की सभी चीजें बह गईं थीं

Published on 7 November, 2017 at 5:13 pm By

तमिलनाडु में भगवान कार्तिकेय को समर्पित एक अनोखा मंदिर है। कन्याकुमारी से 75 किलोमीटर की दूरी पर स्थित तूतीकोरिन जिले में स्थित तिरूचेंदूर मुरुगन मंदिर बहुत खास है। इस मंदिर की स्थापना की वास्तिविक तिथि तो किसी को पता नहीं है, लेकिन माना जाता है कि यह मंदिर हजारों साल पहले बना होगा।


Advertisement

इस मंदिर के निर्माण में चेरा, पांडया और चोल वंश जैसे कई राजवंशों का योगदान रहा। वर्तमान में यह शानदार मंदिर समुद्र किनारे शान से खड़ा है। आपको ये जानकर हैरानी होगी 26 दिसंबर 2004 में आई सुनामी, जिसमें भंयकर तबाही हुई थी, से भी इस मंदिर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था। इसके आसपास की सारी चीज़ें बर्बाद हो गईं, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से मंदिर को कुछ नहीं हुआ। आखिर सुनामी की लहरों ने मंदिर को कोई नुकसान क्यों नहीं पहुंचाया, बहुत से लोगों के मन में यह सवाल उठता है।

चलिए आज हम आपको इस मंदिर के पीछे की दिलचस्प कहानी बताते हैं।

17वीं सदी में डच भारत आए और उन्होंने अपनी कॉलोनियां बनानी शुरू ही की थी। ये लोग श्रीलंका और तमिलनाडु के दक्षिणी तटीय इलाकों पर राज करते थे।



अन्य औपनिवेशिक शासकों की तरह इन्होंने भी हिंदू मंदिरों को लूटा और अपने देश भेज दिया।

उस वक्त तूतीकोरिन भी डचों के कब्ज़े में था। उन लोगों ने तिरुचेंदूर मुरुगन मंदिर की संपत्ति और मुरुगन (कार्तिकेय) की प्रतिमा लूटा लिया।


Advertisement

जब वो इसे अपने देश ले जा रहे थे, भंयकर तूफान आया और उनकी यात्रा बाधित हो गई।

किसी ने कहा कि यह भगवान मुरुगन का क्रोध है और इससे खुद को बचाने के लिए उन्हें भगवान की प्रतिमा को समुद्र में फेंक देने का सुझाव दिया। माना जाता है कि प्रतिमा के समुद्र में फेंकते ही तूफान शांत हो गया और डच अपने गंतव्य तक पहुंच सके।


Advertisement

जहां तक इस मंदिर की बात है तो तिरुचेंदूर मुरुगन मंदिर भगवान मुरुगन के 6 पवित्र धामों में से एक माना जाता है। यह मंदिर भगवान मुरुगन और उनकी दो पत्नियों, वल्ली तथा दीवानाय को समर्पित है। कहा जाता है कि इस मंदिर का अस्तित्व वैदिक काल से है और इसका उल्लेख प्राचीन ग्रंथों में किया गया है।

Advertisement

नई कहानियां

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़

जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़


क्या Clash of Clans के बारे में पहले कभी सुना है? जानिए इसके बारे में सबकुछ

क्या Clash of Clans के बारे में पहले कभी सुना है? जानिए इसके बारे में सबकुछ


क्या आप मूली खाने के इन 7 फायदों के बारे में जानते है?

क्या आप मूली खाने के इन 7 फायदों के बारे में जानते है?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर