मोबाइल पर दिया ट्रिपल तलाक, मचा बवाल

author image
Updated on 31 Dec, 2016 at 5:10 pm

Advertisement

हरियाणा में मोबाइल फोन पर पत्नी को तलाक देने के मसले ने तूल पकड़ लिया है। यहां के पलवल जिला निवासी नसीम अहमद ने अपनी पत्नी को फोन पर तलाक दे दिया था। इस संबंध में दारूल उलूम ने एक फतवा जारी करते हुए तलाक को वैध करार दिया था। उलमाओं का कहना है कि मोबाइल पर दिया गया तलाक मान्य है। साथ ही अगर पत्नी गैरमौजूद हो तो उसे खत, मोबाइल या ई-मेल के जरिए भी तलाक दिया जा सकता है।

इस रिपोर्ट में देवबंद के दीगर उलमा इकराम के हवाले से बताया गया है कि तलाक के समय औरत की मौजूदगी जरूरी नहीं है।

वहीं, दूसरी तरफ दारुल उलूम वक्फ के वरिष्ठ उस्ताद मुफ्ती आरिफ कासमी का कहना है कि पति के तलाक कहने से पत्नी को तलाक हो जाता है। यदि शौहर ने फोन पर तलाक दिया तो भी तलाक हो जाएगा। पति ने तलाक दिया और पत्नी के अलावा कोई और आवाज सुनने वाला नहीं है तो फिर शौहर से तलाक देने की तस्दीक की जाएगी।



गौरतलब है कि नसीम का निकाह 15 मई 2011 को राजस्थान के अलवर जिला अंतर्गत चेलाकी चौपानकी गांव निवासी असमीना के साथ हुआ था। कुछ दिन पूर्व नसीम अहमद ने मोबाइल फोन पर अपनी पत्नी को तलाक दे दिया था। इस घटना के बाद पिछले 23 दिसंबर से असमीना नसीम के घर में आकर रहने लगी है तथा उसने आत्महत्या करने की धमकी दी। वहीं, नसीम ने पुलिस से गुजारिश की है कि उसकी परित्यक्ता पत्नी को उनके घर से बाहर निकाला जाए जिससे कोई अप्रिय घटना न हो।


Advertisement

इस मसले को सुलझाने के लिए गुरुवार को एक पंचायत का आयोजन किया गया था, लेकिन करीब तीन घंटे की बैठक के बावजूद इसका कोई नतीजा नहीं निकल सका।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement