इस बार हज के दौरान तस्बीह भी करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व

author image
Updated on 30 Jul, 2016 at 6:03 pm

Advertisement

इस बार उत्तरप्रदेश से मक्का जाने वाले भारतीय हाजियों के लिए एक विशेष पहचान बनाई गई है। दरअसल, इस्लामिक फाउंडेशन ऑफ इंडिया (आईएफआई) विशेष तरह की तीन रंगों (भारत के राष्ट्रीय ध्वज के तीन रंग) वाले मोतियों से बनी तस्बीह (माला) तैयार करवा रहा है, जो सुंदर है ही, साथ में मक्का में इससे भारतीयता की पहचान भी होगी।

फाउंडेशन के द्वारा यह जानकारी मिली है कि ऐसी 10,000 तस्बीह बनवाने का आर्डर दिया जा चुका है, जिसमें 4-14 अगस्त के बीच ऐसी 5000 तस्बीह वाराणसी के चौघट इलाके में स्थित हज हाउस में हाजियों को वितरित की जाएंगी और शेष लखनऊ से जाने वालों को दिया जाएगा।


Advertisement

आईएफआई के अध्यक्ष एसएम खुर्शीद ने बताया:

“हमने हज यात्रियों के लिए तीन रंगों वाले मोती से बनी तस्बीह बनाने और उन्हें एक विशेष पहचान देने का फैसला लिया है।”

इस तीन रंग वाले तस्बीह में एक खास बात ये भी है कि इन्हें शीशे के 7 टुकड़ों से बनाया गया है और साथ ही तीन रंगों वाले मोती का निर्माण भी फाउंडेशन के 7 सदस्यों द्वारा ही किया जा रहा है।

दरअसल, इस सात के आंकड़े के पीछे हज यात्रियों से जुड़ी एक धार्मिक मान्यता भी है। मान्यता यह है कि मक्का स्थित काबा के चारों ओर उल्टी दिशा में श्रद्धालु सात बार परिक्रमा करते हैं, जिसे बेहद शुभ माना जाता है। इसलिए इन तस्बीह को बनाते वक़्त भी सात के आकड़े को ध्यान में रखा गया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement