ये रहे ‘ग्रीन क्रैकर्स’! पटाखा कारोबारियों ने हरी सब्जियों में डाले पटाखे

Updated on 8 Nov, 2018 at 4:58 pm

Advertisement

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सख्त निर्देश दिए थे दिल्ली एनसीआर में केवल ग्रीन पटाखे ही जलाए जा सकेंगे। लेकिन जिन ग्रीन पटाखों का ज़िक्र सुप्रीम कोर्ट ने किया वो बाज़ार में नज़र ही नहीं आए। बाज़ार की इस हरकत से जहां आम लोग निराश दिखे तो वहीं पटाखा व्यापारियों ने भी इसपर अपनी नाराज़गी जाहिर की। बाज़ार में ग्रीन पटाखे उपलब्ध नहीं होने से नाराज़ दिल्ली के व्यापारियों ने अपना विरोध एक अनोखे अंदाज़ में जताया। व्यापारियों ने हरी सब्जियों में पटाखे डालकर उन्हें अलग-अलग नाम से बेचना शुरू कर दिया।

 

 

दिल्ली में व्यापारियों का कहना था उन्होंने इससे पहले कभी ग्रीन पटाखों के बारे में नहीं सुना था। पटाखा विक्रेताओं ने कहा उन्हें तो ये भी नहीं पता इस तरह के पटाखे होते भी है। पटाखा कारोबारियों ने सब्जियों मे पटाखे डालकर, आलू बम, भिंडी बम जैसे नाम रखकर अपना विरोध जताया।

 

गौरतलब है जब से सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में ग्रीन पटाखे चलाने का आदेश दिया, तब से हर कोई इस बात को जानना चाहता है आखिर ये ग्रीन पटाखे हैं क्या?

 


Advertisement

व्यापारियों की माने तो बहुत से ग्राहक उनसे ग्रीन पटाखों के बारे में पूछते हैं, लेकिन व्यापारियों को खुद इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। ये पटाखे दिखने, जलने और आवाज़ करने में बिलकुल किसी आम पटाखे की ही तरह हैं, मगर इनसे प्रदूषण कम होता है।

 

 

खुद व्यापारियों को ग्रीन पटाखे बेचने का मतलब समझ नहीं आया, ऐसे में उन्होंने अलग-अलग तरह की सब्जियों में पटाखे डालकर उन्हें नाम दे दिए। इन दिनों पटाखा कारोबारियों का इस तरह ग्रीन क्रैकर्स की खिल्ली उड़ाना काफ़ी सुर्ख़ियां बटोर रहा है। सोशल मीडिया पर भी इस खबर की काफ़ी चर्चा हो रही है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement