पटना के प्रकाशोत्सव पर्व में शिरकत करेंगे बाबा अवतार सिंह मौनी, पगड़ी रहेगी आकर्षण का केंद्र

author image
Updated on 18 Dec, 2016 at 8:37 pm

Advertisement

पटना में प्रकाशोत्सव पर्व बड़ी धूम-धाम से मनाया जा रहा है। पटनावासी और प्रशासन ने इसकी तैयारी में कोई कसर नही छोड़ी है। इस अवसर पर पटनावासियों को बाबा अवतार सिंह मौनी से भी मुलाकात करने का मौका मिलेगा। पटियाला के रहने वाले बाबा अवतार सिंह मौनी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है |

गुरुगोविंद सिंह महाराज के 350वें प्रकाशोत्सव पर देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के बीच बाबा अवतार सिंह मौनी की पगड़ी व अनूठा अंदाज लोगों के लिए कौतूहल का विषय रहेगा।

बाबा जी की उम्र 60 साल से अधिक है। बाबा की पगड़ी ही उनकी पहचान है। उनकी पगड़ी 600 मीटर से ज्यादा कपड़े से बनी होती है और उसका वजन 100 पौंड यानी 45 किलो से अधिक होता है। बाबा को देखना पटनावासियों के सपना पूरा होने से बढ़कर होगा।

बड़ी पगड़ी के कारण बाबा कार में नहीं बैठ पाते, इसलिए वे धार्मिक यात्राएं इतनी भारी पगड़ी पहनकर बुलेट के द्वारा करते हैं। उनके जानने वाले सरदार रंजीत सिंह के अनुसार, सिखों की अलग पहचान बरकरार रखने और धर्म का प्रचार करने के लिए बाबा ने यह अनूठा तरीका निकाला है।

ऐसा दावा किया जाता है कि आज तक दुनिया में इतनी बड़ी और भारी पगड़ी कभी किसी ने नहीं पहनी है। बाबा अवतार सिंह के अनुसार वे पिछले 16 वर्षों से इतनी भारी पगड़ी अपने सिर पर बांधकर चल रहे हैं। बाबा को पगड़ी बांधने में 5 घंटे से अधिक समय लग जाता है।


Advertisement

हालांकि, बाबा अवतार सिंह अपनी पगड़ी को बोझ नहीं मानते। उल्टे लोग और प्रशंसक उनके भारी-भरकम पगड़ी और उस पर सजे आभूषण से आकर्षित होकर उनके साथ फोटो खिचाने के लिए बेताब रहते हैं।

अवतार सिंह के पूरे गेटअप की बात करें तो पगड़ी के अलावा वे एक कृपाण और हाथों में भारी कड़े भी पहनते हैं, जिनका वजन और 39 किलो होता है। निश्चित रूप से उनके पटना आगमन पर गुरुगोविंद सिंह महाराज के 350वें प्रकाशोत्सव पर चार चांद लग जाएगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement