चिटफंड घोटाला में तृणमूल सांसद की गिरफ्तारी, कोलकाता में भाजपा मुख्यालय पर हमला

author image
Updated on 3 Jan, 2017 at 7:55 pm

Advertisement

रोजवैली चिट फंड घोटाला मामले में तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद पार्टी समर्थकों ने कोलकाता में भाजपा मुख्यालय पर हमला कर दिया। इस घटना में दर्जनों लोग घायल हो गए हैं, जिनमें दो की हालत गंभीर बताई गई है। बताया गया है कि मंगलवार दोपहर बाद तृणमूल समर्थकों ने पहली बार मुख्यालय पर पत्थरबाजी और तोड़फोड़ की। वहीं, शाम को तृणमूल समर्थकों ने दोबारा हमला किया।


Advertisement

गौरतलब है कि चार दिन पहले ही चिटफंड घोटाले में तृणमूल सांसद तापस पाल को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, आज उत्तर कोलकाता से पार्टी सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय पूछताछ के लिए सीबीआई दफ्तर में आए थे, उन्हें वहीं गिरफ्तार कर लिया गया।

सीबीआई का मानना है कि सुदीप ने रोजवैली चिटफंड घोटाले में सक्रिय भूमिका निभाई थी। उनकी गिरफ्तारी के बाद पश्चिम बंगाल में राजनीतिक पारा चढ़ गया है। हालांकि, तृणमूल प्रमुख और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के तेवरों में नरमी नहीं दिखी है।

सुदीप बंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी पर ममता बनर्जी ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने नोटबंदी के मसले पर एक बार फिर कहा कि अमित शाह और नरेंद्र मोदी की गिरफ्तारी होनी चाहिए।

इस बीच, भारतीय जनता पार्टी ने कोलकाता स्थित मुख्यालय पर हमले के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने पथराव की कड़ी निंदा की है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सीबीआई सुदीप बंद्योपाध्याय को आज रात भुवनेश्वर लेकर जाएगी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement