प्रधानमंत्री मोदी पर फतवा जारी करने वाले मौलाना पर भड़के लोग, विरोध में दुकानें बंद

author image
Updated on 16 Feb, 2017 at 11:44 am

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर फतवा जारी करने वाले इमाम को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। मध्य कोलकाता के टीपू सुल्तान मस्जिद के इमाम नूर रहमान बरकती के खिलाफ स्थानीय लोगों ने बुधवार को 12 घंटे का बंद रखा। मस्जिद के अासपास स्थित सभी 300 से अधिक दुकानें बंद रखी गई।

इस रिपोर्ट में स्थानीय लोगों के हवाले से बताया गया है कि बरकती मस्जिद में राजनीति कर रहे हैं। उन पर आरोप है कि मस्जिद कमेटी के नहीं चाहने के बावजूद वह इमाम का पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं। यही नहीं, इमाम नूर रहमान बरकती के बेटे खालिद बरकती पर आरोप है कि उन्होंने स्थानीय दुकान मालिकों के साथ गाली-गलौच की है। दुकानदारों का कहना है कि इमाम बरकती की हरकतों की वजह से टीपू सुल्तान मस्जिद की साख को बट्टा लगा है। उन पर उल्टा-पुल्टा फतवा जारी करने के आरोप लग रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर इमाम बरकती ने पद नहीं छोड़ा तो बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा।

इमाम बरकती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ फतवा जारी किया था।

newnews


Advertisement

कोलकाता के प्रेस क्लब में आयोजित एक कार्यक्रम में बरकती ने कहा कि जो भी प्रधानमंत्री के सिर के बाल व दाढ़ी का मुंडन करेगा उसे 25 लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा। इमाम फतवा जारी कर रहे थे, उस वक्त तृणमूल कांग्रेस के सांसद इदरीश अली भी मौजूद थे और उन्होंने मेज थपथपा कर इसका समर्थन किया।



इसके बाद लाइव टीवी शो पर इमाम बरकती ने कैनेडियाई लेखक तारेक फतह से एक मुद्दे पर असहमति जताते हुए उनकी गर्दन उड़ाने की धमकी दे डाली। इमाम बरकती ने चर्चा के दौरान और भी आपत्तिजनक बातें कहीं।

यह इमाम वही व्यक्ति हैं, जो बांग्लादेश मूल की लेखिका तस्लीमा नसरीन की गर्दन काटने पर इनाम भी रख चुके हैं।

मौलाना बरकती के विरोध में लोगों ने दुकानें बंद रखीं। यहां विडियो देख सकते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement