करोड़ों में बिकने वाले ये कुत्ते रौब की निशानी हुआ करते थे, आज सड़कों पर घूम रहे हैं लावारिस

author image
Updated on 27 Sep, 2017 at 6:59 pm

Advertisement

जो कुत्ते कभी रौब की निशानी हुआ करते थे, आज ऐसे विशेष प्रजाति के कुत्ते चीन और तिब्बत की सड़कों पर आवारा लावारिसों की तरह घूम रहे हैं। इन कुत्तों की कीमत करोड़ों रुपए में हुआ करती थी।

अब इन कुत्तों की कीमत घटकर कुछ हजार रुपए रह गई है।

यहां हम बात कर रहे हैं तिब्बत की विश्व प्रसिद्ध मास्टिफ प्रजाति के कुत्तों की।

एक समय दुनिया में सबसे महंगी नस्ल माने जाने वाले तिब्बती मास्टिफ कुत्तों की कीमतों में भारी गिरावट के कारण अब इन्हें हजारों की संख्या में तिब्बत और आसपास के प्रांतों में लावारिस छोड़ा जा रहा है।

दरअसल, हाल ही में चीन के बीजिंग और शंघाई समेत कई शहरों में 35 सेंटीमीटर से बड़े कुत्तों के पालने पर पाबंदी लगा दी गई है। इससे इन कुत्तों की कीमतों में भारी गिरावट आई है।

कहा जाता है कि इस नस्ल के कुत्ते रानी विक्टोरिया से लेकर चंगेज खान तक के पास थे। इन कुत्तों की ऊंचाई काफी होती है और ये शेर जैसे दिखते हैं।


Advertisement

इन कुत्तों के इस तरह से सड़कों पर लावारिस घूमने के कारण स्थानीय लोगों के लिए खतरा पैदा हो गया है। ये भोजन के लिए जानवरों और लोगों पर हमला कर रहे हैं।

इस स्थिति को देखते हुए तिब्बत सरकार और एक मंदिर मिलकर इन आवारा मास्टिफ कुत्तों के रहने के लिए आश्रय स्थल बना रहे हैं, जिसमें करीबन 1200 कुत्तों को रखा जाएगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement