सफलता चाहते हैं तो जान लें अमीर और गरीब इंसान की आदतों का फर्क

Updated on 23 Jan, 2018 at 7:13 pm

Advertisement

अमीर और गरीब होना कई बार तो हालात और ज़िंदगी की स्थितियों पर निर्भर करता हैं, लेकिन ये तो किस्मत में लिखा था वाली बात सोचकर हाथ पर हाथ धड़े बैठे रहने से ज़िंदगी में कभी आगे नहीं बढ़ा जा सकता है। आपने कभी गौर किया है कि एक अमीर और गरीब इंसान के बीच पैसे, लाइफस्टाइल के अलावा और किन चीज़ों में अंतर होता है? इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद शायद आपको अपनी कुछ कमियों का पता चले जो आपको आगे बढ़ने से रोक रही है और आप उसमें सुधार कर सकें। चलिए आपको बताते हैं अमीर और गरीब इंसान के बीच के कुछ साधारण अंतर।

1. गरीब इंसान अपनी ज़िंदगी के शुरुआती साल में अमीर की तुलना में देर तक सोता था।

Poor rich

गरीब इंसान ज़िंदगी के शुरुआती साल, जो बहुत अहम होते हैं, में अमीर की तुलना में बहुत आलसी होते हैं। युवावस्था में जो लोग ज़्यादा मेहनत करते हैं उनके गरीब होने की संभावना कम रहती है। अगर युवावस्था में आप खुद को शिक्षित नहीं करते हैं, तो बाद में आपको महसूस होगा कि दुनिया कितनी आगे निकल गई है और कितने पीछे रह गए हैं। जो इंसान किशोरावस्था में अपने विकास पर ध्यान नहीं देता, वह बाद में कितनी भी कोशिश कर ले सफल नहीं हो पाता। या उसे उतनी सफलता नहीं मिलती, जितनी मिलनी चाहिए।

2. गरीब इंसान ज़्यादा टीवी देखता है।

Rich and poor

गरीब इंसान टीवी देखने में अपना समय अधिक बर्बाद करता है, जबकि अमीर इंसान टीवी देखने की बजाय ऐसा काम करते हैं कि वो खुद टीवी पर दिखते हैं। सीरियल और रियलिटी शो देखकर आप अपनी समस्याएं भूल जाते हैं, जो गलत है। समस्याओं को भूलने की बजाय उसका समाधान खोजिए तभी आप आगे बढ़ पाएंगे।

3. गरीब इंसान अपने विचारों पर कभी चलता नहीं है।

Rich and poor

जीवन में कुछ चीज़ें ऐसी होती हैं, जिन्हें कोई बदल नहीं सकता, जैसे आप किस परिवार में और किस माहौल में जन्म लेते हैं, लेकिन आप अपने लक्ष्य को हासिल करने और अपने विचारों पर कितना समय खर्च करना है, ये तो तय कर ही सकते हैं। हर किसी के पास एक दिन में 24 घंटे ही होते हैं, फिर भी कुछ लोग दूसरों से ज़्यादा चीज़ें कर पाते हैं। क्या आपने सोचा ऐसा क्यों? दरअसल, यदि आप किसी चीज़ को शिद्दत से पाना चाहते हैं और उसके लिए खुद को पूरी तरह समर्पित कर दिया है, तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता, लेकिन इसके लिए आपको विचार करना और उस विचार पर अमल करना होगा।

4. गरीब व्यक्ति अपनी असफलता और दुर्भाग्य के लिए दूसरों को ज़िम्मेदार ठहराते हैं।

Rich and poor

अक्सर गरीब लोग अपने जीवन में होने वाली किसी भी गलत चीज़ या असफलता का दोष दूसरों पर मढ़ देते हैं। वो भूल जाते हैं कि हमारी ज़िंदगी खुद हमारे हाथों में है, लेकिन गरीब लोग जीवन में किसी भी चीज़ की ज़िम्मेदारी खुद नहीं लेना चाहते। हालांकि, कुछ हालात ऐसे होते हैं जिन पर हमारा वश नहीं चलता और उसकी वजह से ही हम गरीब रह जाते हैं। हालांकि, अपवादों को छोड़ दिया जाए तो ऐसी सोच भी गरीबी का एक अहम कारण है। आगे बढ़ने के लिए आपको खुद पर यकीन रखना होगा।

5. गरीब व्यक्ति पैसों की बचत नहीं करता।

Rich and poor


Advertisement

अमीर और गरीब इंसान के बीच एक बहुत बड़ा फर्क ये भी है कि गरीब लोग भविष्य के लिए पैसों की बचत में यकीन नहीं रखते। ऐसे में किसी तरह की मुसीबत आने पर अमीर इंसान तो अपनी बचत का इस्तेमाल कर लेता हैं, लेकिन गरीब को कर्ज लेना पड़ जाता है, जिससे उसकी ज़िंदगी और खराब हो जाती है। इसी तरह कभी निवेश का मौका आने पर अमीर तो अपनी बचत की रकम जमा करके मुनाफा कमा लेते हैं, लेकिन गरीब इंसान ने तो बचत ही नहीं की होती है तो निवेश कहां से करेगा। याद रखिए ज़िंदगी में आगे बढ़ने के लिए बचत बहुत ज़रूरी है, भले ही ये छोटी क्यों न हो।

6. गरीब व्यक्ति बेकार की चीज़ों के लिए लोन लेते हैं या क्रेडिट कार्ड यूज़ करते हैं।

Rich and poor

अमीर इंसान लोन लेकर उसे कहीं इन्वेस्ट करते हैं, ताकि उससे कुछ आमदनी हो, जबकि गरीब अक्सर अपनी बेकार की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए लोन लेते हैं।

7. गरीब पैसे मिलने के पहले ही उसे खर्च कर देता है।

Rich and poor

यह स्थिति बहुत ही खतरनाक है। पैसे कमाने के पहले ही खर्च देने की आदत आपको मुसीबत में डाल सकती हैं, लेकिन गरीब अपनी इस आदत से बाज़ नहीं आते और इस वजह से कई बार बहुत बड़ी मुश्किल में फंस जाते हैं, जबकि अमीर इंसान पैसे मिलने के बाद उसे पूरी प्लानिंग से खर्च करते हैं।

8. एक गरीब इंसान दूसरे गरीबों के बीच ही घिरा रहना पसंद करता है।

Rich and poor

गरीब और निकम्मे लोगों को उनके जैसे ही लोगों का साथ पसंद आता है, जिससे वो कुछ करने के लिए प्रेरित भी नहीं हो पाते, जबकि अमीर इंसानों को ऐसे लोगों का साथ पसंद है जो उन्हें प्रेरित करें।

9. गरीब फास्ट फूड ज़्याद खाते हैं।

Rich and poor

सेहत का ख़्याल रखना बहुत ज़रुरी है, लेकिन गरीब ऐसा नहीं करते। वो कुछ भी खा लेते हैं। खाने का उनकी सेहत पर क्या असर होता है, उन्हें इस बात की ज़रा भी परवाह नहीं होती है, जबकि अमीर लोगों को पता है कि जब सेहत अच्छी रहेगी तभी वो ज़िंदगी में आगे बढ़ पाएंगे। इसलिए वो अपनी सेहत का पूरा ख़्याल रखते हैं और हमेशा हेल्दी फूड ही खाते हैं।

10. गरीब लोग ज़्यादा बच्चे पैदा करते हैं।

Rich and poor

गरीब लोगों के औसत से ज़्यादा बच्चे होते हैं, जबकि अमीर लोग हम दो हमारे दो पर विश्वास करते हैं। ज़्यादा बच्चों के कारण गरीब लोगों की ज़िंदगी और बदतर हो जाती है। बच्चों की अच्छी परवरिश के लिए उनके पास न तो पैसे होते हैं और न ही संसाधन।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement