ये 10 धांसू बॉलीवुड फिल्में अगर थिएटर तक पहुंच पातीं तो हो जाता बवाल

Updated on 18 Jun, 2018 at 3:57 pm

Advertisement

बॉलीवुड फिल्में बनाना आसान काम नहीं है। इसमें न केवल कुछ लोग लगे होते हैं, बल्कि एक बड़ी रकम भी लगी होती है। लिहाजा इससे आशाएं और आकांक्षाएं जुड़ी होती हैं। एक फिल्म बनाने में डायरेक्टर-प्रोड्यूसर खुद को पूरी तरह झोंक देते हैं और फिर रिलीज होने के बाद ही वे चैन की सांस ले पाते हैं। लेकिन क्या सभी फ़िल्में रिलीज हो पाती हैं? इसका जवाब है, नहीं!

 

कुछ बॉलीवुड फिल्में बॉक्स ऑफिस का मुंह नहीं देख पातीं।

बहुत सी ऐसी फ़िल्में होती हैं जो बॉक्स ऑफिस का मुंह तक नहीं देख पातीं। इनमें कुछ बेहद महत्वाकांक्षी फिल्में होती हैं। फिल्म मुहूर्त से लेकर रिलीज होने तक की प्रक्रिया में कहीं भी अटक सकती हैं और फिर उसके इर्द-गिर्द बुना सारा सृजनात्मक संसार नष्ट हो जाता है। यह बेहद दर्दनाक होता है उनके लिए, जिनका सब कुछ फिल्म में लगा होता है।

 

हम यहां ऐसी फिल्मों की सूची लेकर आए हैं जो बॉक्स ऑफिस का मुंह तो नहीं देख सकीं, लेकिन ये फिल्में बेहद महत्वपूर्ण और हटके थीं।

 

कूची-कूची होता है

 

 

यह एक एनिमेटेड फिल्म थी, जिसे धर्मा प्रोडक्शंस बना रहा था। इस फिल्म के ट्रेलर भी रिलीज हो चुके थे। यह फिल्म 1998 की ‘कुछ कुछ होता है’ पर आधारित थी। तीन डॉग्स के बीच की लव स्टोरी बताने वाली ये फिल्म 2011 में रिलीज को तैयार थी, लेकिन रिलीज हो न सकी।

 

पांच

 

 

जाने-माने निर्देशक अनुराग कश्यप की ये डेब्यू फिल्म हो सकती थी लेकिन सेंसर बोर्ड ने इस क्राइम बेस्ड फिल्म को हरी झंडी नहीं दी। अब आप समझ सकते हैं कि अनुराग कश्यप को यह कितना चुभता होगा कि लीक से हटकर सोचना और करना महंगा पड़ सकता है। हालांकि, वे आज भी अलग तरह की फिल्मों के लिए जाने जाते हैं।

 

मुन्ना भाई चले अमेरिका

 

 

‘मुन्ना भाई’ सीरीज की दोनों ही फिल्मों को बेहद सराहा गया और इसीलिए राज कुमार हिरानी और विधु विनोद चोपड़ा ‘मुन्ना भाई चले अमेरिका’ बना रहे थे। 2007 में फिल्म का टीज़र भी आ चुका था. लेकिन संजय दत्त की जेल यात्रा की वजह से फिल्म अधर में लटक गई।

 

फिर से

 

 

साल 2015 में छोटे परदे की मल्लिका जेनिफर विंजेट की फिल्म आने वाली थी। फिल्म में उनको डायरेक्टर-एक्टर कुणाल कोहली के साथ रोमांस करते देखा जा सकता था। फिल्म की पूरी शूटिंग लंदन में हुई थी, लेकिन फिल्म बॉक्स ऑफिस तक पहुंचने में नाकामयाब रही।

 

कामसूत्र 3डी

 


Advertisement

 

रुपेश पॉल की इस इरोटिक फिल्म में शर्लिन चोपड़ा बोल्ड परदे पर आग लगाने वाली थी। ‘कान्स फिल्म फेस्टिवल’ तक में फिल्म की स्क्रीनिंग हो चुकी थी। इसे एकेडमी अवार्ड्स के लिए भी नामांकित किया गया था। लेकिन भारत में फिल्म कभी रिलीज ही नहीं हुई।

 

लेडीज ओनली

 

 

रणधीर कपूर, सीमा बिस्वास, शिल्पा शिडोरकर और हीरा राजगोपाल के लीड रोल वाले इस फिल्म में कमल हासन एक डेड बॉडी बने थे। वर्ष 1997 में यह कॉमेडी फिल्म बनकर तैयार हो चुकी थी। यह फिल्म क्यों रिलीज न हो सकी, ये आज भी एक गुत्थी की तरह ही है।

 

दस

 

 

वर्ष 2005 की ‘दस’ से बहुत पहले 1996 में सलमान खान और संजय दत्त अभिनीत फिल्म ‘दस’ की शूटिंग हो रही थी। फिल्म में ये दोनों इंडियन एजेंट्स बने थे जो पाकिस्तान पहुंचते हैं। डायरेक्टर मुकुल आनंद की आकस्मिक मृत्यु हो गई, जिसके चलते फिल्म पूरी नहीं हो सकी।

 

टाइम मशीन

 

 

डायरेक्टर शेखर कपूर 1992 में टाइम ट्रेवल के कॉन्सेप्ट पर फिल्म ‘टाइम ट्रेवल’ की शूटिंग कर रहे थे। इस फिल्म में आमिर खान मुख्य भूमिका में दिखने वाले थे, लेकिन फिल्म किसी कारण से डब्बे में बंद हो गई।

 

देसी मैजिक

 

 

‘कहो ना प्यार है’ फेम अमीषा पटेल की डबल रोल वाली फिल्म ‘देसी मैजिक’ बन रही थी। इस रोमांटिक कॉमेडी फिल्म में जाएद खान, साहिल श्रॉफ मुख्य भूमिका में थे। 2013 में ही ये फिल्म शुरू हुई थी, लेकिन पूरी नहीं हो सकी।

 

तलिस्मान

 

 

विधु विनोद चोपड़ा की इस फिल्म में अमिताभ बच्चन सुपरहीरो की भूमिका में दिखने वाले थे। ‘एकलव्य’ के साथ ही इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ था। ये फिल्म मशहूर हिंदी लेखक देवकी नंदन खत्री की ‘चंद्रकाता’ पर आधारित थी। अमिताभ को इस भूमिका में देखने की चाहत अब भी अधूरी ही है।

 

और भी ऐसी अनेक फ़िल्में हैं जो दर्शकों के सामने आना चाहिए था, लेकिन इत्तेफाकन रिलीज न हो सका!

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement