आप हर बात पर OK तो बोलते हैं, लेकिन क्या जानते हैं इसकी शुरुआत कब हुई थी?

Updated on 2 Aug, 2017 at 2:03 pm

Advertisement

फोन पर बात कर रहे हों या फिर आमने—सामने अपनी सहमति जताने के लिए हम में से कई बात-बात पर ओके बोलते रहते हैं, लेकिन यकीनन आप ये नहीं जानते होंगे कि इस शब्द की शुरुआत कैसे हुई थी। आखिर क्या है ओके का इतिहास?

ओके (OK) आम बोलचाल की भाषा का शब्द है। एक दिन में आप भी कई बार ये बोलते होंगे, क्या आपको याद है आज आपने कितनी बार ओके बोला है? शायद नहीं। दरअसल, यह शब्द है ही इतना आम है कि बात-बात पर हमारी जुबान से निकल ही जाता है। फिर चाहे किसी को इसका मतलब पता हो या न हो।

ओके की शुरुआत


Advertisement

ओके शब्द के शुरू होने की कई कहानियां हैं। कहा जाता है कि 1839 में लेखकों के बीच नए-नए Abbreviations का प्रचलन शुरू हुआ था. इन्हीं में से थे, OW ‘oll wright’ (all right) और OK ‘oll korrect’ (All Correct)। हालांकि, इनमें OW तो बुरी तरह फ़्लॉप हो गया, लेकिन OK लोगों की ज़ुबान पर चढ़ गया। ये शब्द, ‘oll korrect’ पहली बार व्याकरण पर एक व्यंग्य में छापा गया था।



हालांकि, दूसरी थ्योरी कुछ और कहती है।

इटेमोलोजिस्ट (Etymologist) ऐलेन रीड के अनुसार, OK शब्द का इज़ाद यूरोप के गृहयुद्ध के दौरान हुआ होगा। ये बिस्किट का निकनेम था। टेलीग्राफ़ में इस्तेमाल होने वाले Open Key के रूप में भी इसका इस्तेमाल होता था। OK की शुरूआत को लेकर एक और चर्चा है। कुछ लोगों का मानना है कि अमेरिका के आठवें राष्ट्रपति मार्टिन वैन बरेन के चुनाव प्रचार के दौरान ये शब्द प्रचलित हुआ था। न्यूयॉर्क का Old Kinderhook उनका होमटाउन था और वो इसका नाम ‘OK’ कहकर लेते थे। ‘वोट फ़ॉर OK’ उनका नारा था।

अब चाहे इसकी शुरुआत जैसे भी हुई हो, लेकि अब तो ये हमारी ज़िंदगी का हिस्सा बन चुका है। OK !


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement