Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

ये हैं भारत की एकमात्र महिला टनल इन्जीनियर, बेंगलुरू मेट्रो में निभाई है अहम भूमिका

Updated on 1 May, 2017 at 12:13 pm By

जिन क्षेत्रों में पुरुषों का वर्चस्व है, महिलाएं उन क्षेत्रों में बखूबी आगे बढ़ रही हैं। बेंगलुरू में रहने वाली 35 वर्षीया एनी सिन्हा रॉय भारत की पहली और एकमात्र टनल इन्जीनियर हैं। उन्हें दक्षिण भारत में मेट्रो रेल के लिए बन रही पहली सुरंग को विकसित करने का श्रेय दिया जाता है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, शहर में बन रहे मेट्रो परियोजना में 4.8 किलोमीटर ईस्ट-वेस्ट अंडरग्राउन्ड टनल के विकास में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।


Advertisement

उत्तर कोलकाता के एक मध्यमवर्गीय परिवार से संबंध रखने वाली एनी नागपुर विश्वविद्यालय से मेकेनिकल इन्जीनियरिंग की पढ़ाई के बाद मास्टर्स करना चाहती थीं, लेकिन पिता की असामयिक मौत के बाद उन्हें अपने परिजनों की सहायता के लिए नौकरी करनी पड़ गई। वर्ष 2007 के अक्टूबर महीने में एनी ने दिल्ली मेट्रो के एक कॉन्ट्रेक्टर सेनबो के साथ नौकरी शुरू की।

बाद में वर्ष 2009 में वह चेन्नई मेट्रो से जुड़ गईं और वर्ष 2014 में छह महीने के लिए दोहा गईं। मई 2015 से वह बेंगलोर मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (BMRC) के साथ असिस्टेन्ट इन्जीनियर के तौर पर जुड़ीं हैं।

 

कन्स्ट्रक्शन साइट पर अपने पहले दिन के अनुभव के बारे में टाइम्स ऑफ इन्डिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहाः



“वहां करीब 100 पुरुष थे, जिनमें अधिकतर मजदूर थे और नाममात्र के ही इन्जीनियर। उन्हें लगा था कि मैं अधिक दिनों तक नहीं टिक सकूंगी। वहां कोई टॉयलेट नहीं था और न ही बैठने की जगह। हर तरफ मलबा ही मलबा फैला हुआ था।”

आज हालत यह है कि वह दिन के कम से कम 8 घंटे सुरंगों में गुजारती हैं। बेंगलुरू में तो उन्होंने अकेले ही गोदावरी (टनल बोरिंग मशीन) को हैन्डल कर लिया।


Advertisement

एनी जिस काम में हैं, इसे आम तौर पर पुरुषों का क्षेत्र माना जाता है, लेकिन वह चुनौतियां लेती हैं। यहां तक कि जब वह दोहा जा रही थीं, तब उनका वीसा आवेदन तीन बार खारिज किया गया था।

 

एनी कहती हैंः

“कतर ने मेरा वीसा आवेदन तीन बार खारिज कर दिया। वे दरअसल, नहीं चाहते थे कि कोई अविवाहित महिला आए और यहां काम करे। लेकिन चौथी बार मैं उनसे लड़ पड़ी।”


Advertisement

एनी कहती हैं कि भारतीय महिलाओं को उन क्षेत्रों में आगे आना चाहिए, जिसे “मेल डॉमिनेटेड” माना जाता है। इससे वर्जनाएं टूटेंगी।

Advertisement

नई कहानियां

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें People

नेट पर पॉप्युलर