Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

बीजेपी ने स्पॉन्सर की है क्या ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’? ऐसा हम नहीं, लोग पूछ रहे हैं!

Updated on 30 January, 2019 at 11:44 pm By

Advertisement

‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’, जब इस फ़िल्म का फ़र्स्ट लुक सामने आया था तो लोगों ने अनुपम खेर के तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह जैसे चलने से लेकर दिखने तक की जमकर तारीफ़ की थी। साथ ही जब इस फ़िल्म की चर्चा शुरू हुई थी तो तय मना जा रहा था, ये फ़िल्म एक नए विवाद को जन्म दे सकती है और अब ऐसा ही हो रहा है। फ़िल्म का ट्रेलर रिलीज़ हो चुका है और इसके रिलीज़ के साथ ही कांग्रेस ने इस पर सवाल खड़े कर दिए हैं। जिस किसी ने भी इस ट्रेलर को देखा होगा वो समझ गया होगा आखिर कांग्रेस इस फ़िल्म को लेकर विरोध क्यों कर रही है।

 


Advertisement

 

आपने अगर फ़िल्म का ट्रेलर देख लिया है तो आप समझ गए होंगे फ़िल्म में किस तरह कांग्रेस को टारगेट किया गया है। डॉ. मनमोहन सिंह की महाभारत के भीष्म से तुलना करने से लेकर गांधी परिवार के राजनीति में होने को फ़ैमिली ड्रामा कहकर पेशा किया गया है।

 

 

ऊपर से जले में नमक छिड़कने का काम भाजपा के ट्विटर हैंडल ने कर दिया है। इस फ़िल्म का ट्रेलर भाजपा के ऑफ़िशियल ट्विटर हैंडल से बकायादा ट्वीट किया गया है। इसका ट्रेलर ट्वीट करते हुए बीजेपी ने जो कुछ भी लिखा है मानों ऐसा लग रहा है बीजेपी की बरसो की कोई इच्छा पूरी हो गई हो। बीजेपी ने ट्वीट किया-

“इस ट्रेलर की कहानी बताती है कैसे एक परिवार ने दस सालों तक देश को बंधक बनाकर रखा। क्या डॉ. मनमोहन सिंह सिर्फ़ इसलिए तब तक पीएम की कुर्सी पर बैठे थे, जब तक उनका राजनीतिक उतराधिकारी तैयार न हो जाए? देखें इनसाइडर्स अकाउंट पर आधारित ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर, जो 11 जनवरी को रिलीज़ हो रही है।”

 

 

फ़िल्म के ट्रेलर में सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के बीच देश के कई अहम मुद्दों को लेकर हुए मतभेदों को दिखाया गया है। यहां तक ये भी दिखाया गया है मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री पद से इस्तीफ़ा भी देना चाहते थे, लेकिन सोनिया गांधी ने उन्हें ऐसा करने से ये कहकर रोक दिया कि एक के बाद एक घोटाले सामने आ रहे हैं तो ऐसे में राहुल गांधी को कैसे ज़िम्मेदारी सौंपी जा सकती है। वहीं एक सीन में डॉ. मनमोहन सिंह की पत्नी ये भी कहती हैं आखिर पार्टी (कांग्रेस) कब तक उन्हें (मनमोहन सिंह) को बदनाम करेगी।

 

 



इस पूरे ट्रेलर को देख किसी को ये समझने के लिए साइंस या गणित का कोई फ़ॉर्मूला नहीं लगाना है कि इसमें कांग्रेस पार्टी को बुरी तरह घेरा गया है। ट्रेलर में सोनिया गांधी को किसी विलेन से कम नहीं दिखाया गया है। इस फ़िल्म को लोग साफ़तौर पर प्रोपेगंडा बता रहे हैं। ट्रेलर देखने के बाद लोगों के रिएक्शनस कुछ ऐसे रहे।

 

 

फ़िल्म ऐसे समय में रिलीज़ हो रही है जब अगले साल 2019 में देश में लोकसभा चुनाव होने है। फ़िल्म 11 जनवरी को बड़े पर्दे पर उतरेगी। और आने वाला साल भारत की सत्ता के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। 2014 में बीजेपी बहुमत के साथ सत्ता बनाने में कामयाब रही थी, लेकिन हाल ही में आए पांच चुनावों के नतीजों ने बीजेपी के खेमे में चिंता बढ़ाई है। ऐसे में लोग इस फ़िल्म को सीधे-सीधे तौर पर प्रोपेगंडा बता रहे हैं।आपको क्या लगता है? हमारे साथ अपने विचार ज़रूर शेयर करें।


Advertisement

बता दें ये फ़िल्म पत्रकार संजय बारू की किताब ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर आधारित है। संजय बारू 10 साल तक यूपीए कार्यकाल में प्रधानमंत्री के मीडिया सलाहकार रहे थे।

Advertisement

नई कहानियां

शहीद जवानों के परिवार की मदद को आगे आया रिलायंस, पढ़ाई-रोजगार और घर-खर्च का लिया ज़िम्मा

शहीद जवानों के परिवार की मदद को आगे आया रिलायंस, पढ़ाई-रोजगार और घर-खर्च का लिया ज़िम्मा


पुलवामा हमले को लेकर फूट रहा लोगों का गुस्सा, लेकिन विरोध का ये तरीका कहां तक जायज़ है?

पुलवामा हमले को लेकर फूट रहा लोगों का गुस्सा, लेकिन विरोध का ये तरीका कहां तक जायज़ है?


‘द कपिल शर्मा शो’ में अब ये एक्ट्रेस लेंगी सिद्धू की जगह!

‘द कपिल शर्मा शो’ में अब ये एक्ट्रेस लेंगी सिद्धू की जगह!


Snapchat की तरह ही ट्विटर भी जल्द ला रहा है ये ‘विजुअल शेयरिंग फ़ीचर’

Snapchat की तरह ही ट्विटर भी जल्द ला रहा है ये ‘विजुअल शेयरिंग फ़ीचर’


Snapchat के इस एक फ़ीचर ने बचाई मां-बेटी की जान

Snapchat के इस एक फ़ीचर ने बचाई मां-बेटी की जान


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें ट्विटर का टशन

नेट पर पॉप्युलर