Advertisement

बार्सिलोना में हमला इस्लामिक आतंकियों की अंतिम वारदात नहीं बल्कि चेतावनी भर है

11:23 am 18 Aug, 2017

Advertisement

दुनिया भर के कई शहरों पर हमले की घटना को अंजाम देने के बाद इस्लामिक आतंकवादियों ने अब स्पेन के खूबसूरत बार्सिलोना शहर को निशाना बनाया है। आतंकियों की वैन ने 13 लोगों को कुचल डाला। यह घटना शहर के एक भीड़भाड़ वाले इलाके में हुई। स्पेन की सरकार ने इस हमले में 13 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है, जबकि 50 अधिक लोग घायल बताए गए हैं। सरकार ने इसे आतंकी घटना करार दिया है।

बार्सिलोना पुलिस के मुताबिक, 2 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना के वक्त बन्दूक चलने की आवाजें भी सुनी गई थी। बताया जा रहा है कि आतंकियों द्वारा भीड़भाड़ वाले इलाके में ज्यादा से ज्यादा लोगों को कुचलकर मारने की कोशिश की गई थी।

इस बीच, आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी ले ली है।

शहर के बाशिंदों के अनुसार घटनास्थल पर पुलिस लोगों को बचाने और घायलों को यथाशीघ्र अस्पताल पहुंचाने में लग गयी थी। हमले की सूचना के बाद सुरक्षा को देखते हुए बार्सिलोना मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए थे।


Advertisement

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया कि वे स्पेन में भारत के दूतावास के साथ लगातार संपर्क में हैं। उनके अनुसार अभी तक किसी भारतीय के मरने की खबर नहीं है। उन्होंने ट्विटर पर बार्सिलोना हमले के लिए इमर्जेंसी नंबर +34-608769335 साझा किया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने स्पेन के बार्सिलोना में आतंकी हमले की निंदा की है और हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। साथ ही फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन आदि देशों ने हमले की निंदा करते ही स्पेन के साथ होने की बात की है।

बार्सिलोना का लॉस रामब्लास इलाका पर्यटकों से भरा रहता है। इसमें विदेशी नागरिक ज्यादा संख्या में रहते हैं। घटना के बाद वहां अफरातफरी देखी गई। यूरोपीय देशों में भीड़ को कुचलने की घटना कई बार हुई हैं, लेकिन स्पेन में पहली बार है जब आतंकियों ने भीड़ को कुचलने की कोशिश की है।

इसके आधार पर कहा जा सकता है कि बार्सिलोना में हमला इस्लामिक आतंकियों की अंतिम वारदात नहीं बल्कि चेतावनी भर है। आने वाले समय में दुनिया को और भी हमलों के लिए तैयार रहना चाहिए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement