कानूनी झमेले में फंसे रणबीर कपूर, एक महिला ने ठोका 50 लाख का मुकदमा

Updated on 22 Jul, 2018 at 1:03 pm

Advertisement

बीते कुछ समय से फिल्म ‘संजू’ की अपार सफलता का जश्न मना रहे रणबीर कपूर अब एक कानूनी झमेले में फंस गए हैं। दरअसल, पुणे के कल्याणी नगर इलाके के ट्रम्प टावर में रणबीर कपूर का एक फ्लैट है, जिसे उन्होंने किराए पर दे रखा था। अब इसी अपार्टमेंट में रहने वाले उनके किरायेदार ने उनपर रेंट एग्रीमेंट के नियमों का पालन नहीं करने के आरोप में 50 लाख का केस ठोका है।

 

 

रणबीर के फ्लैट में किराये पर रह रहीं शीतल सूर्यवंशी का कहना है कि इस तरह फ्लैट खाली करने से उन्हें और उनके परिवार वालों को खासी परेशानी हुई है। उनका कहना है कि उन्हें निकालने के लिए जो कारण दिया गया था उसमें ये बताया गया था कि रणबीर कपूर उस फ्लैट में शिफ्ट होने वाले है, लिहाजा फ्लैट को जल्द से जल्द खाली कर दिया जाए। रणबीर कपूर के आलीशान फ्लैट में रह रहीं किरायेदार का कहना है कि फ्लैट छोड़ने के लिए अभी काफी समय बाकी था, लेकिन रणबीर ने उनपर जबरन दबाव बनाकर घर खाली करवा लिया।


Advertisement

 

शीतल के मुताबिक, उन्होंने फ्लैट लेते समय 24 लाख रुपये का डिपॉजिट जमा कराया था। इसके अलावा उनके बीच 4 लाख के हिसाब से 12 महीने तक पैसे देने का करार हुआ था। अब इस मामले में पुणें की एक सिविल कोर्ट में केस दर्ज कर शीतल ने 1.08 लाख रुपये के ब्याज के साथ 50 लाख रुपये के भुगतान की मांग की है।

 

वहीं रणबीर कपूर ने इन सभी आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि उनपर लगाए गए आरोप निराधार है। रणबीर का कहना है उन्होंने महिला और उसके परिवार को घर खाली करने के लिए नहीं कहा था, बल्कि किराएदार ने अपनी मर्जी से ये फ्लैट खाली किया है। रणबीर का आरोप है कि किरायेदार ने उन्हें 3 महीने का किराया नहीं दिया था, जिसे डिपॉजिट की गई रकम से काट लिया गया है।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement