तेलंगाना के इस गांव में धड़ल्ले से हो रही थी गांजे की खेती

Updated on 29 Sep, 2017 at 3:50 pm

Advertisement

तेलंगाना के लक्ष्मीपुरम गांव में दशकों से लोग गांजे की खेती करके अच्छी कमाई कर रहे थे।

हालांकि, पुलिस को ग्रामीणों के इस गैरकानूनी काम के बारे में पता चल गया। जब गांव में रेड डाली गई तो 30 किलो गांजा बरामद हुआ है। इस बात की जानकारी द न्यूज मिनट की रिपोर्ट में दी गई है।

दरअसल, पुलिस ने जब गांजा पीने वाले तंदूर के इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तब उन छात्रों ने बताया कि उन्हें गांजा कहां से मिलता और कैसे वो इसके बारे में अपने दूसरे दोस्तों को भी बताते हैं।

तंदूर के सर्कल इंस्पेक्टर के मुताबिक, चूंकि गांजा ताज़ा होता है, इसलिए हैदराबाद के बंजारा हिल और जुबली हिल्स के पॉश इलाके के छात्र भी यहां गांजा खरीदने आते थे। गांजा सप्लायर को पकड़ने के बाद ही पुलिस को लक्ष्मीपुर गांव के बारे में पता चला। इसके बाद पुलिस ने दो हवलदार को गांजा खरीदने वाला छात्र बनाकर गांव में भेजा। उन्हें एक महिला के पास से गांजे की दो भरे बैग मिले। इस बात की सूचना हवलदार ने पुलिस को सूचना दी।


Advertisement

इसके बाद गांव में छापे के दौरान करीब 30 किलो गांजा बरामद किया गया। पुलिस के मुताबिक गांव के हर घर में कम से कम दो से तीन बोरी गांजा की बरामदगी हुई है।

इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। उसका कहना है कि वह सिर्फ अकेला नहीं है, बल्कि पूरा गांव गांजे की खेती में लगा हुआ है और बारिश के मौसम में इसे बोया जाता है। दरअसल, गांववाले अन्य फसलों के बीच में गांजा उगाते थे, जिससे किसी को इस बारे में पता नहीं चल पाता था।

बहरहाल, पुलिस मामले की आगे जांच कर रही है और गिरफ्तार किए व्यक्ति पर NDPS एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement