जल्द ही मिग-21 की जगह लेगा स्वदेशी फाइटर जेट ‘तेजस’

author image
Updated on 13 May, 2017 at 12:27 pm

Advertisement

देश में निर्मित फाइटर जेट ‘तेजस’ ने शुक्रवार को सफलता की एक और उड़ान भरी। इस बार तेजस ने डर्बी मिसाइल के जरिए लक्ष्य को सफलतापूर्वक नष्ट कर हवा से हवा में हमला करने वाली अपनी मिसाइल दागने की क्षमता का प्रदर्शन किया।

डर्बी मिसाइल ने रडार के निर्देशन में चांदीपुर के अंतरिम परीक्षण केंद्र में एक मैनोयूरेबल एरियल लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाया।

लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाने और उसको पूरी तरह तबाह करने के लिए परीक्षण को बड़ी उपलब्धि के रूप में देखा जा रहा है। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इस परीक्षण का उद्देश्य तेजस पर एवियोनिक्स, फायर कंट्रोल राडार, लांचर और मिसाइल शस्त्र प्रणाली के साथ डर्बी मिसाइल प्रणाली के एकीकरण की मारक क्षमता का आकलन करना था।


Advertisement

तेजस फाइटर जेट 50 हजार फुट तक उड़ सकता है। इसमें हवा से हवा में हमला करने के लिए डर्बी मिसाइल सिस्टम लगा हुआ है, जबकि जमीन पर निशाना लगाने के लिए लेजर गाइडेड बम लगे हैं।

तेजस मिग 21 से अधिक आधुनिक है और रक्षा विशेषज्ञ इसकी तुलना मिराज 2000 से करते हैं। इसे चीन और पाकिस्तान के साक्षा उपक्रम से बने जेएफ-17 से बेहतर माना जाता है।

यदि सब कुछ सामान्य रहा तो अगले साल तेजस वायुसेना में पुराने मिग 21 विमान का स्थान ले लेगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement