टैटू आपके सेहत पर असर डाल सकता है, बनवाने से पहले सोच लें

Updated on 15 Sep, 2017 at 6:25 pm

Advertisement

टैटू स्टाइल स्टेटमेंट बन गया है। कुछ लोग टैटू बनाकर अपनी सोच प्रकट करते हैं। वहीं, देश में कुछ जाति, जनजाति के लिए ये संस्कृति का हिस्सा है। महानगरों में टीनएजरों में टैटू का फैशन खूब चलन में हैं, लेकिन अगर आप टैटू से होनेवाले प्रभाव के बार में जानेंगे तो हैरान हो जाएंगे।

एक शोध के अनुसार, टैटू करवाने से शरीर के लिम्फ नोड्स सूज जाते हैं। टैटू बनाने वाले इंक में खतरनाक केमिकल होता है, जिससे वो फैलता है और हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बुरी तरह प्रभावित करता है। फैशन के चक्कर में उससे होने वाली हानि के बारे में हम सोच नहीं पाते और जाने-अनजाने अपना ही नुकसान कर बैठते हैं।

ज्यादातर टैटू की स्याही में ऑर्गनिक पिगमेंट होते हैं। टैटू को स्थायी रखने के लिए इंक में प्रिजर्वेटिव, निकेल, क्रोमियम, मैंगनीज, कोबाल्ट जैसे दूषित पदार्थ इस्तेमाल किए जाते हैं, जो शरीर को खासा नुकसान पहुंचाते हैं। टैटू इंक में सबसे ज़्यादा कार्बन ब्लैक का प्रयोग किया जाता है। टाईटेनियम डाइऑक्साइड का भी इसमें उपयोग किया जाता है जो सनस्क्रीन एयर पेंट में भी होता है। टाईटेनियम डाइऑक्साइड के कारण टैटू वाले जगह पर खुजली, घाव आदि होने की संभावना रहती है।


Advertisement

जर्मनी स्थित, यूरोपियन सिंक्रोटन रेडिएशन फैसिलिटी के छात्रों ने टैटू से होने वाले नुक्सान पर शोध किया। रिसर्च में उन्हें टैटू वाले इंसान के शरीर में कई तरह के हानिकारक तत्व पाए गए हैं। ये तत्व लिम्फ नोड का आकार बढ़ा देती है जो रोग प्रतिरोधी क्षमता को कम कर देता है।

ऐसे में आप ही तय करें कि फैशन जरूरी है या स्वास्थ्य। हमें बताना था, सो बता दिया।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement